< सेल्फ डिफेन्स कराटे शिविर का समापन आज Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News शहर के फिटनिस एकेडमी गांधी चैक में चल रहें निःषुल्क आत्मरक्षा प"/>

सेल्फ डिफेन्स कराटे शिविर का समापन आज

शहर के फिटनिस एकेडमी गांधी चैक में चल रहें निःषुल्क आत्मरक्षा प्रषिक्षण कार्यक्रम शुक्रवार को विधिवात समापन किया जायेगा। 4 मई से चल रहे षिविर में करीब 100 लडकियों को आपातकालीन आत्मरक्षा का प्रषिक्षण दिया जा रहा है। फिटनिस एकेडमी के संचालक इरफान उल्ला खान ने बताया कि सेल्फ डिफेंस का मतलब खुद की रक्षा करना ना कि किसी को हानि पहुंचाना। जब आप खुद की रक्षा कर रही हों, तब आप लडाई को तब तक टालें, जब तक कि आपकी जान पर न बन आए। लड़ने से भी बेहतर है, आप युक्ति का सहारा लें और मौके का फायदा उठाते हुए वहां से निकल जाएं। महिलाओं, युवतियों का सिक्ससेंस कमाल का होता है, वे हर बुरी परिस्थिति को पहले ही भांप जाती है,पर उस पर ध्यान नही देतीं। महिलाओं और युवतियों को अपने सिक्ससेंस को गंभीरता से लेना चाहिए।उन्होने कहा कि यदि आप पैदल जा रही है तो राॅन्ग साइड चले,ताकि सामने से आती गाड़ी पर नजर हो और कोई आपकी चेन,पर्स या मोबाइल छीनकर भाग न सके।

खतरा महसूस हो तो तुरंत भीड़ वाले क्षेत्र में चली जाएं,ताकि शोर करके आप खुद को बचा सकें। कही भी जाएं आसपास के लोगों और परिस्थितियों पर नजर रखें। पर्स में पेपर स्प्रे,हेयरपिन,पेन आदि रखे और इनसे हमला करने से पहले इतनी दूरी रखें कि आप सामने वाले पर वार कर सकें। आप ने यदि बचाव में वार किया तो सामने वाले के संभलने से पहले ही वहां से भाग जाएं। स्र्माट फोन में वह सिस्टम रखें,जिससे आपकी लोकेषन ट्रेंस हो। आॅटों,टैक्सी में बैठे हो तो परिवार या दोस्तों को लोकेषन और गाड़ी नंबर की जानकारी दें। अपराधी को उतना ही सबक सिखाएं,जितनी परेषानी आपको हुई है, जरूरत से ज्यादा सजा देना आपके लिए भी खतरनाक हो सकता है। सुनसान रास्तों को कभी न चुनेें। फोन में इतने लाॅक भी न लगाएं कि वक्त आने पर लाॅक खोलना भी मुष्किल हो जाएं।

About the Reporter

अन्य खबर

चर्चित खबरें