< मुख्य अतिथि से विशिष्ट अतिथि हुए डीएम विशाख जी Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News बड़े नाटकीय तरीके से मुख्य अतिथि से विशिष्ट अतिथि लिखे जाने की ह"/>

मुख्य अतिथि से विशिष्ट अतिथि हुए डीएम विशाख जी

बड़े नाटकीय तरीके से मुख्य अतिथि से विशिष्ट अतिथि लिखे जाने की हकीकत है। प्राथमिक शिक्षक संघ के कार्यक्रम में डीएम विशाख जी को बतौर मुख्य अतिथि आमंत्रित किया गया। बैनर पर भी मुख्य अतिथि अंकित था। 

इस कार्यक्रम में जनप्रतिनिधि सांसद बांदा एवं सदर विधायक भी उपस्थित थे। जिन्हें विशिष्ट अतिथि का दर्जा दिया गया था। चूंकि जनप्रतिनिधि का ओहदा बड़ा माना जाता है और जिस कार्यक्रम में जनप्रतिनिधि होगें वहाँ प्रशासनिक अधिकारी मुख्य अतिथि नहीं हो सकता , ऐसा मानना है। बांदा सांसद भैरो प्रसाद मिश्र ने शिक्षकों को इस संबंध में चेताया और आनन फानन डीएम विशाख जी के मुख्य शब्द को हटाकर विशिष्ट लिखकर अतिथि से जोड़ दिया गया। इस प्रकार जिलाधिकारी विशिष्ट अतिथि हो गए। 

इस दौरान जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी से लेकर शिक्षा विभाग के आला अफसर मौजूद थे। यह कार्यक्रम सेवा निवृत्त शिक्षक एवं राष्ट्रपति व मुख्यमंत्री से पुरस्कृत शिक्षकों के सम्मान में आयोजित किया गया था। शिक्षक संघ ने अपनी त्रुटि मानते हुए सुधार किया। गौरतलब है कि इस प्रकार की गलती शिक्षक संघ क्यों और कैसे कर सकता है ? पूर्व में भी ऐसे कार्यक्रम आयोजित होते रहें परंतु साधारण सा ज्ञान ना होना और जिलाधिकारी की अनुपस्थिति में विशिष्ट अतिथि लिखा जाना भी शर्मनाक गलती कही जाएगी। सुधार के बाद कार्यक्रम सुचारू रूप से चल सका। 

About the Reporter

अन्य खबर

चर्चित खबरें