< गन्दगी से सरावोर मिला बीएसए कार्यालय Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News जिलाधिकारी ने किया औचक निरीक्षण

अभिलेखों क"/>

गन्दगी से सरावोर मिला बीएसए कार्यालय

जिलाधिकारी ने किया औचक निरीक्षण

अभिलेखों का किया अवलोकन, दिये निर्देश

जिलाधिकारी मानवेन्द्र सिंह ने जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी कार्यालय का औचक निरीक्षण किया। डीएम ने सर्वप्रथम बीएसए कार्यालय की अलमारियों को खुलवाकर देखा। कार्यालय में रखीं अलमारियां गंदी पायी गयीं। उन्होंने अलमारियों में रखी पुरानी फाइलों का अवलोकन किया। जिलाधिकारी ने प्रभारी बेसिक शिक्षा अधिकारी से फाइलों के रखरखाव एवं प्रबंधन के बारे में जानकारी की, साथ ही कार्यालय में रखी बंद अलमारियों के बारे में भी पूछा। इसके पश्चात उन्होंने उपस्थिति रजिस्टर का गहनतापूर्वक अवलोकन किया। जिलाधिकारी ने प्रभारी बीएसए से कार्यालय में कार्यरत कर्मचारियों की संख्या के बारे में पूछा, जिस पर उन्होंने बताया कि इस कार्यालय में कुल 16 कर्मचारी कार्यरत हैं। इसके पश्चात उन्होंने धरना प्रदर्शन कर रहे अध्यापकों द्वारा दिये गये ज्ञापन में उल्लिखित मांगो की सूची का अवलोकन किया।

सूची के अवलोकन के दौरान उन्होंने प्रभारी बीएसए से नवनियुक्त शिक्षकों के सत्यापन के बारे में जानकारी की तथा सत्यापन होने के पश्चात भी जिन शिक्षकों के भुगतान लम्बित हैं, उनका भुगतान तत्काल कराने के निर्देश दिये। अनुसूचित जाति एवं जनजाति के शिक्षकों की प्रोन्नति के सम्बंध में शीघ्र कार्यवाही करने के निर्देश भी दिये गये। परिषदीय शिक्षामित्रों का भुगतान नौ माह से लम्बित होने के कारण उन्होने वरिष्ठ लेखा सहायक को निर्देशित करते हुए कहा कि इस प्रकरण में शासन को पत्र लिखें, जिससे उनका भुगतान अतिशीघ्र हो सके। साथ ही जिलाधिकारी ने क्षुब्दता प्रकट करते हुए कहा कि कर्मचारी संगठनों की मांगों को यथासमय निस्तारित क्यों नहीं किया जाता ? उन्हें इस तरह के धरने प्रदर्शन के लिए बाध्य क्यो होना पड़ता है। उन्होंने प्रभारी बीएसए एवं वरिष्ठ लेखा सहायक को निर्देशित करते हुए कहा कि धरने पर बैठे शिक्षकों की समस्याओं का तत्काल निस्तारण करना सुनिश्चित करें। इसके पश्चात उन्होंने बेसिक शिक्षा अधिकारी के कार्यालय में प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री के चित्र लगाने के निर्देश दिये। उन्होंने पुस्तक भण्डारण कक्ष में रखी पुस्तकों के बारे में पूछताछ की, जिस पर बताया गया कि भण्डारण कक्ष में यूनीसेफ की पुस्तकें उपलब्ध हैं, जिनका वितरण ब्लॉक स्तर पर किया जा रहा है। इसके उपरान्त उन्होंने कार्यालय के मध्यान्ह भोजन कक्ष का भी निरीक्षण किया।

निरीक्षण के दौरान कार्यालय के सभी कक्षों में गंदगी पायी गयी तथा सामान का रखरखाव उचित ढंग से नहीं किया गया था। साथ ही कार्यालय के बाहर पीने के पानी के घड़े भी नहीं पाये गये, जिस पर जिलाधिकारी ने प्रभारी को कार्यालय के बाहर पीने हेतु स्वच्छ पेयजल के 05 घड़े रखवाने के निर्देश दिये। कार्यालय के परिसर में कचरा जलता हुआ पाया गया। जिलाधिकारी ने कार्यालय परिसर में बने शौचालय का निरीक्षण किया, जो गंदगी से ग्रसित पाया गया तथा शौचालय के ऊपर रखी पानी की टंकी से पानी रिस रहा था, जिस पर जिलाधिकारी ने नाराजगी व्यक्त करते हुए सफाई के निर्देश दिये।

About the Reporter

अन्य खबर

चर्चित खबरें