< नगर निगम व ईईएसएल के बीच शहरवासी बने चकरघिन्नी Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News शिकायत दर्ज कराने के महीना भर बाद भी नहीं सुधर रहीं लाइटें

नगर निगम व ईईएसएल के बीच शहरवासी बने चकरघिन्नी

शिकायत दर्ज कराने के महीना भर बाद भी नहीं सुधर रहीं लाइटें

गली-मोहल्लों की खराब एलईडी लाइटें सुधरवाने के लिये शहरवासी नगर निगम व ईईएसएल के बीच चकरघिन्नी बना हुआ है। ईईएसएल कर्मचारी को मैनुअल शिकायत दर्ज कराने के महीना भर बाद भी लाइटें सुधर नहीं रहीं । नगर निगम अफसरों से शिकायत करने पर वे ईईएसएल से शिकायत करने की बात कहकर हाथ खड़े कर देते हैं। ऐसे में दोनों ओर शहरवासी परेशान हैं। बिजली की खपत रोकने के लिये सोडियम लाइटों की जगह एलईडी लगाने का प्रस्ताव नगरीय क्षेत्रवासियों के लिये परेशानी का सबब बना हुआ है।

हाल में बदली गईं लाइटें कुछ दिनों में ही खराब हो जाती हैं। खराब लाइटों को सुधरवाने के लिए शहरवासी कभी नगर निगम तो कभी ईईएसएल के चक्कर लगाकर शिकायत दर्ज करा रहे हैं। इसके बाद भी खराब एलईडी लाइटें नहीं सुधर पा रहीं हैं। नगर निगम अफसरों से शिकायत करने पर वह ईईएसएल कर्मचारी के पास जाकर शिकायत दर्ज कराने की बात कहते हैं, जबकि ईईएसएल में दर्ज शिकायतों का निस्तारण सम्भव नहीं हो पा रहा है। एक लाइट के लिये कई बार शिकायतों के बाद भी ठीक न होने पर आये दिन मार्ग प्रकाश विभाग में झंझट की स्थिती बनी रहती है। इसके बावजूद अफसर कहते हैं कि एलईडी लाइट सुधरवाने की जिम्मेदारी ईईएसएल को दी गई है।

ऐसे में नगर निगम प्रशासन उक्त लाइटों को नहीं सुधरवा सकता है। अधिशासी अभियंता मार्ग प्रकाश अजय सक्सेना कहते हैं कि नगर निगम का ईईएसएल से अनुबंद्ध हुआ है कि वह सात साल कर मैंटीनेंस करेंगे। ऐसे में एलईडी खराब होने पर ईईएसएल कर्मचारी शिकायत दर्ज कर रहे हैं। गौरतलब है कि इससे पूर्व एलईडी लाइटों की खराबी का मुद्दा पिछली कार्यकारिणी की बैठक में भी उठा था और कार्यकारिणी सदस्यों ने एलईडी लाइटों के समय पर न सुधरने पर आपत्ति दर्ज कराई थी। नगर आयुक्त ने ईईएलएल प्रतिनिधियों से सम्पर्क कर दावा किया था कि एलईडी लाइट खराब होने पर शिकायत दर्ज कराने के बाद 48 घण्टे के अंदर लाइट सुधर जाएगी।

असुक्षित है महिलाओं का निकलना

गली-मोहल्लों में लगी एलईडी खराब होने के कारण गर्मी के दिनों में रात में समय टहलने के लिये निकलने वाली महिला असुरक्षित महसूस कर रही है। पार्षदों ने भी शिकायत दर्ज कराई है कि कहीं कहीं पूरी गली की लाइटें खराब होने से अंधेरा पसर जाता है, जबकि गर्मी के दिनों में अधिकांश परिवार रात के समय घर के बाहर टहलने आदि के लिये निकलते हैं।

About the Reporter

अन्य खबर

चर्चित खबरें