< श्रद्धा पर्व में दी गई स्वर्गीय पाहवा को श्रद्धांजलि Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News पानी वाले बाबा के नाम से विख्यात प्रसिद्ध समाजसेवी,श्रीराम सेव"/>

श्रद्धा पर्व में दी गई स्वर्गीय पाहवा को श्रद्धांजलि

पानी वाले बाबा के नाम से विख्यात प्रसिद्ध समाजसेवी,श्रीराम सेवा समिति के संस्थापक किशनलाल जी पाहवा के आकस्मिक निधन पर श्रीराम सेवा समिति के अध्यक्ष डॉ.विनोद तिवारी के संयोजकत्व व हरीसिंह ठाकुर के मार्गदर्शन में गौर मूर्ति स्थित  सरस्वती वाचनालय में आयोजित श्रद्धांजलि सभा(श्रद्धा पर्व) में नगर के गणमान्य नागरिकों, साहित्यिक, सांस्कृतिक, सामाजिक संस्थाओं द्वारा स्व.पाहवा को भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की गई।इस अवसर पर सुप्रसिद्ध समाजवादी चिंतक रघु ठाकुर ने स्वर्गीय पाहवा को स्मृत करते हुए कहा कि स्व.पाहवा उन विरले लोगों में थे जो मानव-सेवा को ही अपने जीवन का ध्येय बना लेते हैं। सुप्रसिद्ध साहित्यकार प्रोफ़ेसर सुरेश आचार्य ने स्वर्गीय पाहवा को एक निष्काम कर्मयोगी की संज्ञा देते हुए उन्हें संपूर्ण जीवन समाज सेवा को समर्पित करने वाले अद्भुत व्यक्तित्व के रुप में स्मृत किया।

कार्यक्रम का प्रारंभ लोक गायक शिवरतन यादव द्वारा संत कबीर के दोहों की गायन से हुआ। श्री राम सेवा समिति के अध्यक्ष डॉ. विनोद तिवारी ने स्व.पाहवा द्वारा स्थापित श्रीराम सेवा समिति की निरंतर 22 वर्षीय जल सेवा का विवरण देते हुए उनके योगदान को अविस्मरणीय बताया। डॉ.जीवनलाल जैन,शिव शंकर केसरी,वरिष्ठ कवि निर्मलचंद निर्मल,डॉ.विष्णु पाठक,डॉ.महेश तिवारी,विष्णु आर्य, डॉ.अजय तिवारी, (कुलपति) डॉ.एन.पी.शर्मा,आशीष ज्योतिषी (जे.जे.इंस्टीट्यूट), डॉ.रवींद्र  सिलाकारी,नेवी जैन, रमाकांत यादव ने भी स्व.पाहवा की सेवा भावना को प्रणम्य करते हुए उनके निधन को अपूरणीय क्षति बताया।आयोजन की सहयोगी संस्थाओं प्रीत के संयोजक राघवेन्द्र नायक, श्यामलम् व पाठक मंच अध्यक्ष उमा कान्त मिश्र, संपादक जय जनतंत्र डॉ. रविंद्र सिलाकारी व जे.जे.फाउंडेशन सचिव आशीष ज्योतिषी तथा मंच द्वारा स्व.पाहवा के चित्र पर माल्यार्पण के पश्चात् श्यामलम् सचिव  कपिल बैसाखिया ने कहानीकार आर.के.तिवारी द्वारा पानी पर रचित लघु कथा का वाचन कर श्रद्धांजलि दी।डॉ.नलिन जैन बिट्टी (श्यामलम्),वृंदावन राय सरल(लेखक संघ), मंगल सिंह ठाकुर(एकता समिति),ऋषभ समैया जलज,सुबोध मलैया ने काव्यमय श्रृद्धांजलि अर्पित की।सफल संचालन हरीसिंह ठाकुर ने किया।सभा का समापन महात्मा गांधी के प्रिय भजन रघुपति राघव राजाराम के सामूहिक गायन एवं दो मिनट की मौन श्रद्धांजलि से हुआ।

श्रद्धांजलि सभा में जिला पेंशनर समाज से जे.पी. पांडेय,सीताराम रसोई से डा. राजेंद्र चउदा, रवींद्र भवन ट्रस्ट व जीवनदान फाउंडेशन से राजेश पंडित,पप्पू तिवारी (शिव सेना),सरस्वती वाचनालय से जी.एल. छत्रसाल, नगर साहित्यकार समिति से रमेश दुबे,हिंदी उर्दू  साहित्यकार परिषद से के एल. तिवारी, डॉ.बद्रीप्रसाद ,आदर्श संगीत महाविद्यालय व बुनियाद संस्था से मुन्ना शुक्ला,डा.ऋषभ भारद्वाज(आर्ष परिषद), घरौंदा संस्था से मुह.इशहाक,अशोककुमार अग्रवाल , शंभू दयाल पांडेय,डॉ. एस.एम.सीरोठिया, ‌‌‌‌‌‌‌सतीश खत्री, अशोक मिजाज़,बी.एल.राजोरिया, मुकेश निराला, नारायण जैन, अशोक रैकवार(मांझी समाज), पुष्पदंत हितकर, अमित आठिया,पी.आर. मलैया, प्रदीप पांडेय(पी आर एस), वीरेंद्र प्रधान,  डॉ.जी.आर.साक्षी,रामकुमार पचौरी, महादेव केसरवानी, घनश्यामअग्रवाल,सीताराम श्रीवास्तव भावुक(हिन्दी साहित्यकार सम्मेलन)कैलाश देवलिया, ,दामोदर अग्रिहोत्री,संतोष पाठक, डॉ.राजेश दुबे, ज्ञानचंद जैन,अंबर चतुर्वेदी चिंतन, काशीराम अबोध, डी.एन. चौबे, के.के.बख्शी, पं.जे.के.पाठक, डा.एम.के.खरे,बिहारी सागर, डॉ.दिनेश खरे,गणेश चौरसिया,रमेश सोनी,प्रमेन्दु जैन सहित स्व.पाहवा के परिजनों द्वारा अश्रुपूरित श्रद्धांजलि दी गई। स्व.पाहवा के पुत्र श्रीराम पाहवा  द्वारा सभा कक्ष में सपरिवार नतमस्तक होकर कृतज्ञता ज्ञापित कर माहौल को अत्यधिक भावुक व  शोकमय बना दिया। इस अवसर पर श्रीराम सेवा समिति के अध्यक्ष डॉ. विनोद तिवारी ने प्रतिवर्ष स्व.पाहवा की स्मृति में समाज सेवा सम्मान देने की घोषणा भी की।सभा के पश्चात् सभी संस्थाओं और उपस्थित नागरिकों द्वारा रेलवे स्टेशन जाकर रेल यात्रियों को पेयजल पिलाकर स्व.पाहवा की जल-सेवा को स्मृत कर श्रद्धांजलि दी गई।

About the Reporter

अन्य खबर

चर्चित खबरें