< खरीद केन्द्र में नही हो रही गेहूँ की ब्रिकी, किसानों में आक्रोश Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News जनपद में गुरूवार को सागर संभाग के कमिश्नर अजीत अवस्थी भावांतर य"/>

खरीद केन्द्र में नही हो रही गेहूँ की ब्रिकी, किसानों में आक्रोश

जनपद में गुरूवार को सागर संभाग के कमिश्नर अजीत अवस्थी भावांतर योजना की हकीकत जानने जिले की कृषि मंडियों के दौरे पर निकले थे। दोपहर में उनके द्वारा जबेरा मंडी का दौरा किया गया और खरीदी की जानकारी ली गई। उसके बाद उन्हे दमोह मंडी का भी निरीक्षण करना था उसके पहले ही शाम को किसानों ने सागर-दमोह स्टेट हाइवे पर जाम लगा दिया और सरकार के खिलाफ नारेबाजी शुरू कर दी। किसानों का आरोप था कि वे तीन से चार दिनों तक मंडी में पड़े हैं इसके बाद भी उनके अनाज की तौल नहीं हो रही है। जानकारी लगते ही प्रशासनिक अधिकारी मौके पर पहुंचे, लेकिन किसान जाम हटाने को तैयार नहीं थे। 

यातायात टीआई रीता सिंह और कोतवाली टीआई अरविंद दांगी और सीएसपी ने मौके पर पहुंचकर मार्ग डायवर्ट कराया और वाहनों की आवाजाही शुरू कराई। वहीं कुछ किसान प्रशासनिक अधिकारियों के साथ कृषि मंडी के अंदर चले गए तो कुछ किसान सड़क पर ट्रेक्टर अड़ाकर खड़े रहे। सभी किसान कमिश्नर से मिलने के लिए उनका इंतजार करते रहे लेकिन वे नही आए।

बताते चले कि इस बार किसान की अनाज खरीदी का काम नाफार्ड के तहत हो रहा है। सात समितियां जिलाकृषि उपज मंडी में किसानों का अनाज खरीदने पहुंच रही हैं। पहले किसानों के पास फसल बेंचने मैसेज नहीं पहुंचे और जब मैसेज पहुंचे तो रूक-रूक कर किसानों की फसल खरीदी शुरू की गई। जिससे धीरे-धीरे मंडी में किसानों की 3 संख्या में बड़ोत्तरी हो गई। आलम यह हुआ कि कई किसान चार से पाचं दिनों तक मंडी में पड़े हैं, लेकिन उनकी फसल नहीं खरीदी जा रही है। गुस्साए किसानों ने सागर-दमोह हाइवे पर जाम लगाकर अपना गुस्सा जाहिर किया। किसानों का आरोप था कि प्रतिदिन किसानों के अनाज की तुलाई नहीं हो रही है। एक किसान को कम से कम तीन से चार दिन तक मंडी में रूकना पड़ रहा है इसके बाद उसके अनाज की तुलाई हो रही है।
 

About the Reporter

अन्य खबर

चर्चित खबरें