< पकड़ा गया झोलाछाप मुन्नाभाई एमबीबीएस Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News झोलाछाप डॉक्टर के इलाज से एक वर्ष पूर्व विवाहिता की मौत के मामले"/>

पकड़ा गया झोलाछाप मुन्नाभाई एमबीबीएस

झोलाछाप डॉक्टर के इलाज से एक वर्ष पूर्व विवाहिता की मौत के मामले में लालचंद्र सोनी पुत्र सीताराम सोनी निवासी लालतारोड ने पुलिस अधीक्षक से न्याय की गुहार लगाई।पीड़ित ने बताया कि मेरी पत्नी हीरामनि सोनी का इलाज प्राइवेट डॉक्टर मनोज सिंह लालतारोड चौराहा स्थित क्लिनिक में चल रहा था।

डॉक्टर द्वारा गलत इलाज किये जाने पर 29 अगस्त 17 को पत्नी का देहांत हो गया जिस पर पीड़ित ने थाना मऊ में लिखित तहरीर देने पर रिपोर्ट न लिखी जाने पर पीड़ित ने  न्यायालय की शरण ली जिस पर न्यायालय द्वारा थाना मऊ में रिपोर्ट पंजीकृत किये जाने का आदेश दिया गया पर विवेचक की हिलाहहवाली के चलते डॉक्टर को गिरफ्तार नही किया गया था। 

जो बड़े से बड़े रोगों का इलाज चुटकियो में करता नजर आ रहा था बिना डिग्री बिना डिप्लोमा के धड़ल्ले से फर्जी डॉक्टर की क्लिनिक गुलजार हो रही थी क्लिनिक की शोभा बढ़ाने के लिए डॉक्टर ने अपने जैसे दो और झोलाछाप लड़को को काम मे लगा रखा था जो मरीजो को ग्लूकोस बॉटल व इंजेक्सन लगाने का काम किया करते हैं।जब उन काम करने वाले लड़को से बुन्देलखंण्ड न्यूज़ की टीम ने पूछताछ की तो घबड़ाते हुये बताया कि डॉक्टर साहब एक दिन का 200 रुपये देते हैं।

सबसे बड़ी बात यह है कि क्लिनिक एक छोटी सी दुकान में चलता था जिस पर मरीजो के लिये कोई व्यवस्था नही थी मरीजो को बगल की परचून की दुकान में बॉटल लगा कर वही लिटा दिया जाता था।जिस परचून की दुकान की शोभा मच्छर,चूहे बढ़ाते नजर आते थे।

अब सवाल यह उठता है कि इतने सालों से फलफूल रही अवैध क्लिनिक आखिर किसकी छत्रछाया पर गुलजार हो रही थी क्यों किसी अधिकारी की नजर इस ओर नही गयी क्या यह सब उनकी मंशानुरूप  कार्य हो रहा था। जहा इलाज के दौरान एक महिला की जान चली जाती है फिर पीड़ित न्याय के लिए थानों के चक्कर लगाता है थाना में रिपोर्ट न लिखे जाने पर न्यायालय की शरण लेता है।आखिर कौन है इन सब का जिम्मेदार।
यह एक चिंतनीय विषय है...??

About the Reporter

अन्य खबर

चर्चित खबरें