< दर-दर भटकते चन्ना को मिला अपना पक्का आवास Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News घिसट-घिसट कर चलते हुए गांव के लोगों से एक-एक रोटी मांग कर पेट भरना"/>

दर-दर भटकते चन्ना को मिला अपना पक्का आवास

घिसट-घिसट कर चलते हुए गांव के लोगों से एक-एक रोटी मांग कर पेट भरना और किसी भी छाया के नीचे रात गुजार लेना ऐसा जीवन जी रहे थे चन्ना लोध। विकलांग होने के साथ-साथ एक दम तन्हा। माता-पिता भी साथ नही। लेकिन अब अपने पक्के मकान में रहते हैं चन्ना। ग्राम पंचायत ने ट्रायसाइकिल भी दिलवा दी है। अब घिसटना नही पडता। जैसे शासन की मदद से उनकी किस्मत ने रूख मोड़ लिया हो।

दिव्यांग चन्ना लोध पन्ना जिले की अजयगढ़ तहसील के ग्राम सानगुरैया के रहने वाले हैं। चन्ना दोनों पैरों से विकलांग हैं। उन्होंने कभी सपने मंे भी नही सोचा था कि उनके बेसहारा और घिसटते जीवन को इतना बड़ा सहारा मिलेगा। ग्राम पंचायत के प्रयास से उन्हें ट्रायसाइकिल मिल गयी थी जिसके बाद चन्ना को बड़ी सहुलियत हुई। वह ट्रायसाइकिल की मदद से घर-घर जाकर रोटी मांग कर पेट भरने लगे। रात में किसी पेड या छज्जे के नीचे रात गुजार लेते थे। फिर उन्हें पता चला की वर्ष 2017-18 में उन्हें भी प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ मिलने वाला है। उनकी अपनी भी छत होगी तो वह फूले नही समाएं। लेकिन जैसे ही उन्हें अपनी विकलांगता का अहसास हुआ चन्ना का मन दुखी हो गया। चन्ना को लगा ऐसे हालत में मैं कैसे घर बनवा पाऊंगा। मेरे नसीब में दूसरों की छाया में ही जीवन व्यतीत करना लिखा है।

लेकिन जिला पंचायत पन्ना एवं जनपद पंचायत अजयगढ़ के अधिकारियों ने चन्ना की खुशी को कम नही होने दिया। उन्होंने अपने पूरे सहयोग का आश्वासन एवं समझाईश देकर चन्ना की हिम्मत को बनाए रखा। उनकी मेहनत रंग लायी। चन्ना ने भी हिम्मत दिखाई और प्रधानमंत्री आवास बनाने के लिए तैयार हो गया। उसकी हिम्मत को बनाए रखने में ग्राम पंचायत ने भी पूरा सहयोग दिया। देखते ही देखते चन्ना का घर लगभग पूरा हो गया है। एक बार की पुताई भी हो चुकी है। फाइनल पुताई होना बाकी है। अब चन्ना अपनी ट्रायसाइकिल अपने पक्के घर के बरामदे में रखता है और अपने खुद के आवास में रात बिताता है। चन्ना कहते हैं कि मैं बहुत खुश हॅू। जिसकी सपने में भी कल्पना नही की थी शासन की मदद से वैसा जीवन जी पा रहा हॅू। इसके लिए वह माननीय प्रधानमंत्री जी एवं मुख्यमंत्री जी को कोटिशः धन्यवाद देते हैं। साथ ही जिला प्रशासन को भी धन्यवाद देते हैं कि उनके द्वारा बांधी गयी हिम्मत से ही आज वे अपने पक्के मकान में रह पा रहे हैं।

About the Reporter

अन्य खबर

चर्चित खबरें