< मध्यप्रदेश को बनायेंगे एक बेहतर प्रदेश: CM Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News बेटियों को लखपति बनाने का हमारा बरसों पुराना सपना अब पूरा हो रहा"/>

मध्यप्रदेश को बनायेंगे एक बेहतर प्रदेश: CM

बेटियों को लखपति बनाने का हमारा बरसों पुराना सपना अब पूरा हो रहा है। हमने बेटियों के जन्म को बढ़ावा देने के लिये लाड़ली लक्ष्मी योजना, उनकी पढ़ाई लिखाई, शादी ब्याह से लेकर उन्हें सशक्त बनाने और रोजगार में आरक्षण देने तक की व्यवस्था की है। हम महिला सशक्तिकरण के क्षेत्र में मध्यप्रदेश को एक बेहतर प्रदेश बनायेंगे। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शुक्रवार की रात दमोह में बुंदेली महोत्सव में इस आशय के उद्गार व्यक्त किये। श्री चौहान ने इस मौके पर महिला सम्मेलन एवं ओजस्विनी अलंकरण समारोह का शुभारंभ किया और 4 राष्ट्र विभूतियों को ओजस्विनी अलंकरण 2017 से अलंक़ृत भी किया।

इस मौके पर प्रदेश के वित्त, वाणिज्यिक कर मंत्री श्री जयंत कुमार मलैया, पंचायत एवं ग्रामीण विकास तथा सामाजिक न्याय मंत्री गोपाल भार्गव, वरिष्ठ फिल्म कलाकार शरद सक्सेना, ओजस्विनी पत्रिका की प्रधान संपादिका सुधा मलैया एवं ओजस्विनी अलंकरण 2017 से सम्मानित विभूतियां मौजूद थीं। इस अवसर पर डॉ. सुधा मलैया द्वारा लिखित पुस्तिका श्रीजा का विमोचन भी किया गया।

बुंदेली महोत्सव एवं ओजस्विनी पत्रिका के रजत जयंती समारोह के अवसर पर आयोजित महिला सम्मेलन को सम्बोधित करते हुये मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि बुंदेली संस्कृति अद्भुत है। इसकी छटा निराली है। यहां का गीत, संगीत, व्यंजन, कला, संस्कृति और जीवन मूल्य औरों से अलग है। उन्होंने इस महोत्सव के सातवें आयोजन के लिये वित्तमंत्री श्री मलैया एवं बुंदेली गौरव न्यास के सभी पदाधिकारियों को साधुवाद देते हुये कहा कि इस महोत्सव के जरिये राष्ट्र विभूतियों को सम्मानित करना प्रदेश के लिये गौरव का विषय है।

समाज में स्त्री अत्याचारों के प्रति चिंता व्यक्त करते हुये मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि हमें स्त्री को सशक्त बनाना होगा। स्त्री और बालिकाओं के सम्मान से खिलवाड़ बर्दाश्त नहीं किया जायेगा। हमने कानून बनाया है कि मासूम बेटी से दुराचार करने वाले को सीधे फांसी की सजा दी जायेगी। देश में स्त्रियों की अस्मत से खिलवाड़ करने वालों को मृत्युदण्ड देने के लिये वातावरण तैयार करना होगा। नराधमों का कोई मानव अधिकार नहीं होता, इन्हें मृत्युदण्ड मिलना ही चाहिये। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बेटियों के कल्याण के लिये लाड़ली लक्ष्मी योजना, सशक्त वाहिनी योजना, स्त्रियों को सशक्त बनाने के लिये जनप्रतिनिधित्व में 50 प्रतिशत आरक्षण, शिक्षक भर्ती में 50 प्रतिशत आरक्षण एवं पुलिस भर्ती में 33 प्रतिशत आरक्षण का जिक्र करते हुये कहा कि मध्यप्रदेश में बेटियों और स्त्रियों के कल्याण के लिये जो काम हुआ है, उसे अब पूरा देश अपना रहा है। हम देश के सामने महिलाओं के सम्मान की एक नई मिसाल कायम करेंगे।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री एवं अन्य विशिष्टि अतिथियों ने ब्राम्हर्षि सुभाष पत्री एवं उनकी धर्मपत्नी श्रीमती स्वर्णलता पत्री को ओजस्विनी अर्धनारीश्वर अलंकरण से, साध्वी ज्ञानेश्वरीजी को ओजस्विनी शिखर अलंकरण से, डॉ. शरद रेणु शर्मा को ओजस्विनी शीर्ष अलंकरण एवं श्रीमती शमा भाटे को विशिष्ठ कला शिखर अलकरण के रूप में धनराशि, शाल एवं श्रीफल एवं प्रशस्ति पत्र देकर अलंकृत किया।

About the Reporter

अन्य खबर

चर्चित खबरें