< बालीवुड की अभिनेत्रियां कर रहीं विरोध प्रदर्शन Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News जस्टिस फार आसिफा अभियान में बालीवुड की तमाम अभिनेत्री तख्तियां"/>

बालीवुड की अभिनेत्रियां कर रहीं विरोध प्रदर्शन

जस्टिस फार आसिफा अभियान में बालीवुड की तमाम अभिनेत्री तख्तियां लेकर मैदान में उतरी हैं। इन अभिनेत्रियों द्वारा स्वयं को हिन्दुस्तान कहा जा रहा है और हिन्दुस्तान शर्मिंदा है। विरोध के इस तरीके पर अलग अलग तरह के नैरेटिव हैं। कुछ लोग समर्थन में हैं तो कुछ लोग सख्त विरोध भी दर्ज कर रहे हैं। 

यहाँ ध्यान देने योग्य है कि पहली बार बलात्कार पीड़ित का नाम मीडिया द्वारा खुलकर लिया गया और पीडिता का चित्र भी दिखाया गया। यह नियम के प्रतिकूल भी है। इन सब वजह से एक धड़े का मानना है कि देश में लगातार साजिश जारी है। देश का माहौल खराब कर सत्ता का हित साधने वाले सक्रिय हो चुके हैं। इनमें तमाम बुद्धिजीवी भी सम्मिलित माने जा रहे हैं , इन्हें कांग्रेस खेमे वाले साहित्यकार कहा जा रहा है। कहते हैं कि कांग्रेस ने अपने शासन काल के दौरान समूह विशेष के साहित्यकारों को खूब मलाई परोसी थी। अब कहने वाले यह कहते हैं कि मोदी प्रधानमंत्री बनने के बाद मलाई परोसना बंद कर दिए और मलाई के हर मार्ग को अवरूद्ध कर दिया , बेशक वह फारेन कंट्री से एनजीओ हेतु डोनेशन ही क्यों ना रहा हो। 
इसको लेकर साहित्यकार का एक धड़ा भी खासा नाराज हैै , तो वहीं दूसरे धड़े के लोग चैन की बंशी भी बजा रहे हैं। 

लोगों का यह भी कहना है कि यही वजह है कि बालीवुड से लेकर कलमकार सारे घोड़े खोल देना चाहते हैं कि कुछ भी हो अबकी बार मोदी सरकार नहीं चाहिए। किन्तु इसी देश में वह लोग भी रहतेे हैं , जो हर षणयंत्र को बखूबी समझते हुए चूहे की भांति जाल कुतरना जानते हैं। इसलिये लोकसभा चुनाव से काफी पहले ही पूरा देश चुनावी मोड में आ गया है। सब अपने-अपने तरीके से सक्रिय हो रहे हैं। 

बालीवुड का भी अहम रोल इसलिये भी हो गया कि पिछले कुुछ मामलो पर अनुपम खेर खूब सक्रिय हुए थे, तब से बालीवुड भी स्वहितों के लिए राजनीतिक सक्रियता बनाए हुए है। कुलमिलाकर बलात्कार एक जघन्य अपराध है और हर बलात्कारी को कड़ी से कड़ी सजा के साथ विचार यह भी हो कि ऐसी घटनाओं से निजात पाया जाए। लेकिन किसी भी प्रकार का षणयंत्र वह भी राजनीतिक लाभ हेतु वास्तव में बड़ा दर्दनाक है। यह देश के हित में नहीं हो सकता है। 

About the Reporter

अन्य खबर

चर्चित खबरें