< बेमौसम ओलावृष्टि व बाशिस ने किसानों को फिर रूलाया खून के आंसू Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News महाबकंठ, पनवाडी तथा चरखारी क्षेत्र के दर्जनों ग"/>

बेमौसम ओलावृष्टि व बाशिस ने किसानों को फिर रूलाया खून के आंसू

महाबकंठ, पनवाडी तथा चरखारी क्षेत्र के दर्जनों गांवों में भारी तवाही

करीब आधा घण्टे तक गिरे ओलों ने मचाई भारी तवाही

मटर, मसूर व चना की फसलें पूरी तरह चैपट

जिले के किसान पिछले दस वर्षो से प्रकृति की मार झेलते चले आ रहे है। सोमवार को भी आंधी पानी के बीच गिरे ओले ने किसानों की मेहनत पर पानी फेर दिया है। चरखारी, पनवाडी महोबकंठ आदि क्षेत्रों में करीब आधा घण्टे से अधिक झमाझम बारिश के बीच गिरे ओले ने किसानों को खून के आंसू रोने पर मजबूर कर दिया है। इस समय किसानों की फसले कुछ तो फूल पर थी कुछ पक चुकी थी तथा कुछ ही दिनों में किसान उन्हे घर ले जाने की सोच रहे थे। परन्तु अचानक हुई प्राकृतिक आपदा ने किसानों के माथो पर बल पा दिये है।

बता दें कि जिले का किसान पिछले कई वर्षो से प्रकृति की मार झेलता चला आ रहा है। सोमवार की शाम जिले में हुई अचानक तेज आंधी के साथ झमाझम बारिश के बीच गिरे ओलों ने किसानों के चेहरों पर बल ला दिये है। इस बार किसान अच्छी पैदाबार होने के चलते खुश दिखाई पड रहे थे परन्तु फरवरी माह के दूसरे सप्ताह में सोमवार को अचानक मौसम ने करबट बदली और जिले के लाखों किसानों के अरमानों पर पानी फेर दिया। बता दे कि मुख्यालय में भी तेज आंधी के साथ झमाझम बारिश हुई जिससे जन जीवन अस्त व्यस्त हो गया। चरखारी विकासखण्ड क्षेत्र में बारिश के बीच गिरे ओलों ने किसानों के मंसूबों पर पानी फेर दिया। किसानों ने बताया कि बारिश के बीच गिरे ओले से लगभग 80 फीसदी फसल पूरी तरह वर्वाछ हो गई है।

ओलों ने पूरी फसल को वर्वाद कर दिया। मसूर, मटर चना आदि की फसल तो पूरी तरह से वर्वाद हो गये है। वही गेहूं की फसल को भी भारी नुकसान होने की सम्भावना है। वही पवनवाडी प्रतिनिधि के अनुसार तेज बारिश के साथ अंधाधुन्ध हुई आलावष्टि ने तवाही मचा के रख दी है। उन्होने बताया कि पहाडिया, ब्यारजो, टिगुरा, रिवई, रोला, धवार, दिदवारा बहादुरपुरा तथा महोबकंठ क्षेत्र में अधाधुन्ध हुई ओला वृष्टि से मटर, मसूर तथा चना की फसलें ओलावृश्टि के कारण कटकर जमीन पर बिछ गई है। उन्होने कहा कि करीब 20 मिनट तक गिरे ओलों ने किसान के मंसूबों पर पानी फेर कर रख दिया है।

किसानों का कहना है कि इन गांवों में ओलों ने तवाही मचा कर रखी दी। 100 प्रतिशत फसल वर्वाद हो चुकी है। इसी प्रकार बेलाताल में भारी तूफान के साथ मामूली बारिश हुई है। श्रीनगर में तथा कबरई में खबर लिखे जाने तक मामूली आंधी के साथ बारिश हुई है। फिलहाल महोबकंठ, पनवाडी व चरखारी क्षेत्र में ओलों तथा बारिश ने भारी तवाही मचाई है। किसानों के सारे मंसूबों पर हुई ओलावृष्टि ने पानी फेर दिया हैं। खबर लिखे जाने तक जिले में घने व काले बादल छाये हुये थे। मुख्यालय में तेज आंधी के साथ बारिश हो रही है।

 

About the Reporter

अन्य खबर

चर्चित खबरें