?> रेल संरक्षा में उत्‍कृष्‍ट योगदान के लिए उत्‍तर मध्‍य रेलवे के 20 कर्मी पुरस्‍कृत बुन्देलखण्ड का No.1 न्यूज़ चैनल । बुन्देलखण्ड न्यूज़ उत्तर मध्य रेलवे मुख्यालय सूबेदारगंज "/>

रेल संरक्षा में उत्‍कृष्‍ट योगदान के लिए उत्‍तर मध्‍य रेलवे के 20 कर्मी पुरस्‍कृत

उत्तर मध्य रेलवे मुख्यालय सूबेदारगंज इलाहाबाद के विन्ध्य सभागार में महाप्रबंधक उत्तर मध्य रेलवे एम.सी. चौहान की अध्यक्षता में संरक्षा बैठक का आयोजन हुआ। इस बैठक में उत्तर मध्य रेलवे मुख्यालय के सभी प्रमुख विभागाध्यक्ष एवं वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के माध्यम से तीनो मण्डलों इलाहाबादआगरा एवं झांसी के मण्डल रेल प्रबंधक सहित अन्य अधिकारी उपस्थित रहे। बैठक का शुभारम्‍भ, महाप्रबन्‍धक उत्‍तर मध्‍य रेलवे द्वारा विभिन्‍न विभागों के 20 रेल कर्मियों को माह सितम्‍बर एवं अक्‍टूबर 2017 के दौरान रेल परिचालन में संरक्षा के लिए उत्‍कृष्‍ट योगदान के लिए नकद पुरस्‍कार एवं प्रमाण पत्र प्रदान करने के साथ हुआ।

इस अवसर पर बोलते हुए महाप्रबन्‍धक महोदय ने पुरस्‍कृत रेल कर्मियों को ड्यूटी के दौरान समर्पण एवं सतर्कता के लिए धन्‍यवाद दिया। उन्‍होने आगे कहा कि इन पुरस्‍कृत कर्मियों ने सुस्‍थापित सिद्धान्‍त एक सतर्क कर्मचारी ही संरक्षा का सर्वोत्‍तम साधन है को चरितार्थ किया है। महाप्रबन्‍धक महोदय ने नये मुख्‍य संरक्षा अधिकारी श्री एस.के. कश्‍यप का स्‍वागत भी किया। बैठक में यह निर्णय किया गया कि उत्‍तर मध्‍य रेलवे परिक्षेत्र में शीत लहर एवं कोहरे के दृष्टिगत ट्रैक पर की जाने वाली रात्रिकालीन पेट्रोलिंग को और सघन किया जाये।

महाप्रबन्‍धक महोदय ने कहा कि ट्रैक ज्‍यामिट्री इन्‍डेक्‍स (TGI) को सूक्ष्‍मता से मॉनिटर किया जाये एवं जहां कहीं भी TGI वैल्‍यू ट्रैक रिकार्डिंग के दौरान कम मिले, ऐसे स्‍थानों को प्राथमिकता के आधार पर अटेन्‍ड किया जाये। इसके अतिरिक्‍त ट्रैक पर समस्‍याकारक स्‍थानों की पहचान कर उनको अटेन्‍ड किया जाये चाहे उनकी टीजीआई कुछ भी हो। रेलवे ट्रैकों पर खुले में शौच को एक संरक्षा समस्‍या मानते हुए उसके समाधान के तरीकों पर चर्चा हुई। बैठक के दौरान  यह भी निर्णय किया गया कि पेट्रोलमैन/ट्रैकमैन द्वारा वर्तमान में प्रयोग की जा रही बल्‍ब फ्लैश लाइटों के साथ ही उनको उच्‍च लक्‍स वैल्‍यू वाली रिचार्जेबल एलईडी फ्लैश लाइटें भी प्रदान की जायें।

बैठक में रेलवे ट्रैक के निकट के कार्यस्‍थलों पर समुचित सुरक्षा व्‍यवस्‍था, एसईजे एवं ग्‍लूड ज्‍वाइंटों पर समुचित पैकिंग, रोलिंग स्‍टॉक में फ्लैट टायर होने से बचाव, रोलिंग स्‍टॉक में ही हॉट एक्‍सल एवं ब्रेक बाइडिंग के केसों की घटनाओं को कम करने, वेल्‍डफेलियरों, ट्रेनों के रोकने, कैटल रनओवर, अवांछित अलार्म चेनपुलिंग एवं एसेट फेलियरों आदि विषयों पर भी चर्चा हुई



चर्चित खबरें