< डकैतों से लोहा लेते हुए पुलिस के बहादुर जवान जे पी सिंह हुये शहीद Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News

डकैतों से लोहा लेते हुए पुलिस के बहादुर जवान जे पी सिंह हुये शहीद

कल रात से बुन्देलखण्ड के सबसे बड़े इनामी डकैत बबुली कोल और चित्रकूट पुलिस की मुठभेड़ चल रही है। जिसमें दोनों ओर से जवाबी फायरिंग की जा रही है। खबर आ रही है कि गैंग के कई सदस्य गोली लगने के कारण घायल हैं। पुलिस और डकैतांे के बीच ये मुठभेड़ मानिकपुर के निही चरैया के जंगलों में हो रही है। सबसे दुखद खबर ये आई है कि इस मुठभेड़ में चित्रकूट पुलिस के जांबाज एसआई जेपी सिंह डकैतों से सीधे टक्कर लेते हुए गोली लगने से शहीद हो गए हैं। आपको बता दें कि जेपी सिंह चित्रकूट जिले के रैपुरा थाने में तैनात थे। जौनपुर के नेवढ़िया थाना क्षेत्र के बनेवरा गांव के रहने वाले एसआई जेपी सिंह के शहीद होने की खबर फैलते ही पूरे जिले के साथ ही उनके गृहजनपद में भी मातम पसरा है। शहीद हुए सब-इंस्पेक्टर को देखने आयुक्त चित्रकूट धाम मण्डल बांदा के साथ जिलाधिकारी चित्रकूट व डीआईजी ज्ञानेश्वर तिवारी भी मानिकपुर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में पहुँचे हैं।

पाठा के बीहड़ से आ रही जानकारी के मुताबिक अभी भी पुलिस अधीक्षक प्रताप गोपेन्द्र, अपर पुलिस अधीक्षक बलवंत चैधरी और मानिकपुर थानाध्यक्ष साजिद अली खान एवं जिले की एंटी डकैत टीम द्वारा मुठभेड़ जारी है। सूत्र बताते हैं कि डकैत बबुली कोल को भी गोली लगी है और वह काफी घायल है। बहिलपुरवा थाने के एसओ वीरेन्द्र त्रिपाठी के पैर में भी गोली लगी है। कुछ डकैतों के गोली लगने की भी खबर है। जबकि सूत्रों के मुताबिक डकैत लवलेश पटेल पुलिस मुठभेड़ में ढेर हो चुका है, पर उसकी लाश अभी तक पुलिस को नहीं मिल पाई है। पुलिस बीच-बीच में सर्च आॅपरेशन भी चला रही है। मुठभेड़ में गैंग के सदस्य राजू कोल को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। राजू कोल को मुठभेड़ के दौरान पैर में गोली लगी थी। उसका इलाज सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र मानिकपुर में चल रहा है।
इस पूरे घटनाक्रम पर नजर डालें और सूत्रों पर विश्वास करें तो शाम तक बबुली कोल समेत डकैतों के सफाये की खुशखबरी मिल सकती है।

 


About the Reporter

  • अनुज हनुमत

    5 वर्ष , परास्नातक (पत्रकारिता एवं जन संचार)

अन्य खबर

चर्चित खबरें