?> ऐसा था कोहली कुंबले का बैर की छः महीने से बंद थी एक दूसरे से बातचीत बुन्देलखण्ड का No.1 न्यूज़ चैनल । बुन्देलखण्ड न्यूज़ वेस्ट इंडीज द"/>

ऐसा था कोहली कुंबले का बैर की छः महीने से बंद थी एक दूसरे से बातचीत

वेस्ट इंडीज दौरे से ठीक पहले टीम इंडिया के कोच अनिल कुंबले के पद छोड़ने के ऐलान से हर कोई हैरान है और अब खबर आई है कि कुंबले और कप्तान विराट कोहली के बीच मतभेद इतने गहरे थे कि दोनों के बीच पिछले कुछ समय से नहीं बल्कि पूरे छह महीने से बातचीत बंद थी। बीसीसीआई ने दोनों के बीच विवाद खत्म करने की कोशिश की लेकिन वो बेअसर रही और कुंबले को जाना पड़ा।

 

एक और महत्वपूर्ण बात यह भी सामने आयी है कि सचिन तेंदुलकर, सौरव गांगुली और वीवीएस लक्ष्मण की मुख्य सलाहकार समिति (सीएसी) ने भी कुंबले का कार्यकाल बढ़ाने को सीधे तौर पर हरी झंडी नहीं दिखायी थी।

लंदन में इस पूरे घटनाक्रम के गवाह रहे बीसीसीआई के एक बड़े अधिकारी ने इन बातों का खुलासा किया है। उसके मुताबिक चैंपियंस ट्रॉफी के फाइनल के बाद भारतीय टीम के होटल में तीन अलग-अलग मीटिंग हुईं। पहली मीटिंग में कुंबले, बीसीसीआई के शीर्ष अफसर और सीएसी सदस्य शामिल थे। दूसरी मीटिंग में कुंबले की जगह विराट को शामिल किया गया और तीसरी में कुंबले और विराट को साथ-साथ बैठाया गया। लेकिन ये तीसरी मीटिंग बेनतीजा रही क्योंकि दोनों में कोई बात ही नहीं हुई।

अधिकारी ने कहा, “इन दोनों ने पिछले साल दिसंबर में इंग्लैंड टेस्ट सीरीज के समाप्त होने के बाद एक दूसरे से बात करना बंद कर दिया था। समस्याएं थी लेकिन यह हैरान करने वाला था कि दोनों के बीच पिछले छह महीने से सही तरह से संवाद नहीं था। रविवार को फाइनल के बाद वे एक साथ बैठे और वे दोनों सहमत थे कि उनका साथ-साथ चलना मुश्किल है।”

बीसीसीआई के इस पदाधिकारी ने बताया कि जब हमने कुंबले से अकेले में बात की और उनसे पूछा कि क्या कोई समस्या है तो उन्होंने साफ कहा कि उन्हें विराट से कोई समस्या नहीं है। कुंबले को उन मुद्दों के बारे में भी बताया गया जिन्हें लेकर विराट को उनसे आपत्ति थी, इसपर कुंबले का कहना था कि ये मुद्दे महत्वहीन हैं।