?> कुंबले का कोच पद से इस्तीफा, कोहली को नहीं पसंद थी कार्यशैली बुन्देलखण्ड का No.1 न्यूज़ चैनल । बुन्देलखण्ड न्यूज़ भारतीय क्रिक"/>

कुंबले का कोच पद से इस्तीफा, कोहली को नहीं पसंद थी कार्यशैली

भारतीय क्रिकेट टीम के हेड कोच अनिल कुंबले ने कप्तान विराट कोहली के साथ मतभेदों के बीच मंगलवार शाम अपने पद से इस्तीफा दे दिया। टीम इंडिया के पूर्व दिग्गज स्पिनर अनिल कुंबले भारतीय क्रिकेट टीम के सबसे सफल कोचों में से एक रहे। लेकिन उनके कार्यकाल का अंत कुछ कड़वी यादों के साथ हुआ।

इस्तीफे के बाद अनिल कुंबले ने सोशल मीडिया पर बयान जारी किया है। अपने बयान में कुंबले ने टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली पर निशाना साधा है। अनिल कुंबले ने अपने बयान की शुरुआत में टीम की उपलब्धियों के लिए कप्तान कोहली, सभी खिलाड़ि्यों और सपोर्ट स्टाफ का धन्यवाद भी दिया। 

साथ ही कहा क्रिकेट सलाहकार समिति(CAC) ने मुझसे हेड कोच के तौर पर अपना कार्यकाल आगे बढ़ाने के लिए कहा था। लेकिन इसके साथ ही मुझे बताया गया कि कप्तान को मेरी कार्यशैली को लेकर परेशानी है। यह जानकर मैं हैरान रह गया क्योंकि कप्तान और कोच की सीमाएं मुझे अच्छी तरह से पता हैं। हालांकि बीसीसीआई ने मेरे और कप्तान के बीच सुलह कराने की कोशिशि की। लेकिन यह स्पष्ट था कि यह साझेदारी आगे नहीं चलने वाली थी। ऐसे में मैंने इस्तीफा देना ही बेहतर समझा।'

 

विराट कोहली चोट के कारण इस मैच का हिस्सा नहीं थे, और अजिंक्य रहाणे टीम के कप्तान थे। इस मैच में चाइनामैन गेंदबाज कुलदीप यादव को मौका दिया गया था। कोहली इसके खिलाफ थे, वे अमित मिश्रा को खिलाना चाहते थे।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, यह फैसला विराट को बिना बताए लिया गया था, और प्लेइंग इलेवन पर निर्णय लिया गया थाइसके अलावा बताया जा रहा है कि विराट कोहली पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी को ग्रेड-ए में शामिल किए जाने से भी खफा थेकोहली का मानना था क्योंकि धोनी अब टेस्ट क्रिकेट से संन्यास ले चुके हैं, तो उनका ग्रेड-ए में रहना सही नहीं है। लेकिन कोच अनिल कुंबले की राय इससे जुदा थी।

 

कहा जाता है कि कोच कुंबले टीम इंडिया में अनुशासन को लेकर काफी सख्त थे। कई मौकों पर वह प्रैक्टिस के दौरान खिलाड़ियों को लताड़ भी लगा चुके थे। साथ ही कई दौरों पर वे टीम के खिलाड़ियों की गर्लफ्रेंड, पत्नियों के जाने के भी खिलाफ थे। हालांकि, इस बारे में कभी उन्होंने खुलकर कोई बयान नहीं दिया।

मीडिया रिपोर्ट्स की मानें, तो कोच के तौर पर विराट कोहली की पहली पसंद रवि शास्त्री हैं। वह कुंबले से पहले बतौर डायरेक्टर और कोच टीम इंडिया से जुड़े थे। उनके अलावा टीम के कई खिलाड़ी भी शास्त्री नीति से खुश थे, खिलाड़ी शास्त्री के खुली छूट देने के रवैये से खुश थे।

चैंपियंस ट्रॉफी में पाकिस्तान के हाथों हार के बाद कोच कुंबले और कप्तान विराट के बीच सुलझता हुआ मामला फिर उलझ गया था। विराट ने फाइनल से एक दिन पहले क्रिकेट सलाहकार समिति (सीएसी) के समक्ष कुंबले को लेकर खुलकर आपत्ति जताई थी।  जिससे सलाहकार समिति पसोपेश में थी।