< जल संरक्षण अभियान में बांदा का नाम लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड में दर्ज  Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News बांदा,

जनपद में विभिन्न कार्य"/>

जल संरक्षण अभियान में बांदा का नाम लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड में दर्ज 

बांदा,

जनपद में विभिन्न कार्यक्रमों के जरिए सुर्खियों में छाए रहे तत्कालीन जिलाधिकारी हीरा लाल जाते जाते जल संरक्षण अभियान में भी एक तमगा अपने नाम कर गए उनका जल संरक्षण अभियान को लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड दर्ज हो गया। 

तत्कालीन जिलाधिकारी हीरा लाल ने बांदा में लोकसभा चुनाव के दौरान 90 प्लस अभियान से मतदाता जागरूकता अभियान शुरू किया था। इसके बाद स्टार्टअप सम्मिट और कुआं तलाब जियाओं अभियान, पेड़ प्रसाद, योग, केन जल आरती, जेल में बंदी सुधार कार्यक्रम, बुन्देली व्यंजन को बढावा भू संरक्षण अभियान के तहत भूजल बचाओ, पेयजल बढ़ाओ अभियान शुरू किया।

इस अभियान के तहत जनपद के 470 ग्राम पंचायतों में 2605 खतियां खोदी गई, 260 कुएं खोदे गए, 2183 हैंडपंप लगाए गए और 469 जल चैपाल कराई गई यह अभियान 26 फरवरी से 25 मार्च 2019 तक चला जो किसी भी जिले में एक रिकॉर्ड है। इसके लिए उनके भूजल बचाओ पेयजल बढ़ाओ अभियान को लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड में स्थान मिला इसके पहले उन्हें विभिन्न कार्यक्रमों व अभियानों के लिए राज्य सरकार से लेकर निर्वाचन आयोग तक सम्मानित कर चुका है।

उनके स्थानांतरण होने के बाद एक और उपलब्धि उनके नाम दर्ज हो गयी। बताते चलें कि जिलाधिकारी ने बांदा में जल संरक्षण अभियान के तहत पूरे जनपद में बचाने और संरक्षित करने के लिए व्यापक अभियान चलाया जिससे लोगों में जागरूकता पैदा हुई। इससे जलस्तर बढ़ाने में मदद मिली और लोगों में जल प्रबंधन की भावना भी पैदा हुई।

अन्य खबर

चर्चित खबरें