< ब्रज की होली महोत्सव में इस बार रहेगी बाँदा के देवारी की धूम Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News @रोहित सिंह

ब्रज के मशहूर होल"/>

ब्रज की होली महोत्सव में इस बार रहेगी बाँदा के देवारी की धूम

@रोहित सिंह

ब्रज के मशहूर होली उत्सव में इस बार ब्रज की पहचान मशहूर लट्ठमार होली ही नहीं दिखेगी बल्कि बुंदेलखंड का मशहूर पाई डंडा (देवारी) भी खेली जाएगी, इसके अलावा हरियाणा का बीन और नगाड़ा भी बजेगा। भारत की विविधता भरी लोक कलाओं की इस झांकी का लुत्फ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी उठाएंगे।

चालीस दिन तक चलने वाले ब्रज के मशहूर होली महोत्सव को एक नया रंग देने की सारी तैयारी ब्रज तीर्थ विकास परिषद अपनी कोशिशों में जुटा है। इस रंगोत्सव का आयोजन 3 मार्च से 11 मार्च तक किया जाएगा। इस दौरान देश के अलग-अलग राज्यों की संस्कृति और लोक कलाओं का रंग भी दिखेगा। जहां एक तरफ हरियाणा से बीन और नगाड़े की गूंज होली पर सुनाई देगी तो वहीं बांदा की देवारी। बुंदेलखंड का प्रसिद्ध राई नृत्य, मुखराई का चरकुला नृत्य तो दिखेगा ही इसके अलावा स्थानीय लोक कलाकार लावनी गाते हुए भी सुने जा सकेंगे। विभिन्न राज्य और क्षेत्रों की लोक कला का प्रदर्शन सिर्फ बरसाना में ही नहीं होगा बल्कि ब्रज में होली से जुड़े सभी बड़े आयोजनों में इनकी मौजूदगी देखने को मिलेगी।

होली पर जगमगाएंगे ब्रज के सभी मंदिर
होली के इस आयोजन को पर्यटन की दृष्टि से आकर्षक बनाने की ये योजना सिर्फ लोक कलाओं के प्रदर्शन तक ही सीमित नही है बल्कि ब्रज तीर्थ विकास परिषद के उपाध्यक्ष शैलजा कांत मिश्र ने इस योजना को बड़े स्तर पर लागू करने के लिए प्राधिकरण सभागार में एक बैठक भी की। इस बैठक में पुलिस और जिला प्रशासन के बड़े आला अफसरों ने भी शिरकत की। बैठक के दौरान सभी विभागों से ब्रज रंगोत्सव से संबंधित योजनाओं को जल्दी से जल्दी पूरा करने के लिए कहा गया साथ ही मंदिरों की सजावट, साफ-सफाई करवाने के भी खास निर्देश जारी किए गए।
ब्रज तीर्थ विकास परिषद के उपाध्यक्ष शैलजा कांत मिश्र ने बताया कि पर्यटन विभाग राधा बिहारी इंटर कॉलेज बरसाना में सांस्कृति कार्यक्रमों का आयोजन करेगा। इसके लिए बरसाना पहुंचने के सभी रास्तों को भी ठीक करवाने के आदेश दिए गए। उन्होंने रंगोत्सव के लिए गोवर्धन ड्रेन की सफाई का काम जल्दी ही पूरा करने की जानकारी भी दी। इसके साथ ही लाडली जी के मंदिर की फूलों से सजावट, संस्कृति विभाग के मंचीय कार्यक्रम, शोभा यात्रा, बच्चों की प्रतियोगिता आदि कार्यक्रम के आयोजन की योजना को भी हरी झंडी दे दी गई।  इस रंगोत्सव की जानकारी दुनिया के कोने-कोने पर पहुंचाने के लिए और सैलानियों को ब्रज तक लाने के लिए तीर्थ विकास परिषद टूरिस्ट कंपनियों को भी इस कार्यक्रम से जोड़ रहा है।


पूरे कार्यक्रम की रूपरेखा इस प्रकार है-


3 मार्च 2020 को अष्टमी के दिन बरसाना में लड्डू होली
4 मार्च 2020 को  बरसाना में लट्ठमार होली का आयोजन
5 मार्च 2020 को दशमी के दिन नंदगांव में लठामार होली
5 मार्च 2020 को गांव रावल में लठामार एवं रंग होली
6 मार्च 2020 को श्रीकृष्ण जन्मभूमि एवं श्री बांके बिहारी मंदिर पर सांस्कृतिक कार्यक्रम एवं होली
7 मार्च 2020 को  गोकुल में छड़ीमार होली
09 मार्च 2020 को गांव फालैन में जलती हुई होली से पण्डा का निकलना
09 मार्च 2020 को द्वारकाधीश मंदिर से होली का डोला नगर भ्रमण
10 मार्च 2020 को द्वारकाधीश मंदिर में टेसू फूल, अबीर गुलाल की होली
10 मार्च 2020 को संपूर्ण मथुरा जनपद क्षेत्र में अबीर, गुलाल की होली
11 मार्च 2020 को दाऊजी का हुरंगा, गांव मुखराई में चरकुला नृत्य।

अन्य खबर

चर्चित खबरें

Your Page has been visited    Times