< 36 माह में बन जायेगा बुन्देलखण्ड एक्सप्रेस-वे Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News @मुकेश श्रीवास्तव,

36 माह में बन जायेगा बुन्देलखण्ड एक्सप्रेस-वे

@मुकेश श्रीवास्तव, लखनऊ

बुन्देलखण्ड में पर्यटन का होगा
50000 व्यक्तियों के लिए रोजगार
14849 करोड़ होगी कुल लागत
पहली किश्त में 2157 करोड़ मिले शासन से

बुन्देलखण्ड एक्सप्रेस वे परियोजना के पूरा होने का रास्ता साफ हो गया है। उत्तर प्रदेश मंत्रिमण्डल ने इस परियोजना के इंजीनियरिंग, प्रोक्योरमेन्ट एवं कन्सट्रक्शन हेतु परियोजना के विभिन्न पैकेजों में जिन निर्माणकर्ताओं का चयन किया गया था, उन्हें अनुमोदन सम्बन्धी प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है। सचिव समिति की विगत 31 अक्टूबर को हुई बैठक में संस्तुति प्रदान की गई थी। जिसमें बुन्देलखण्ड एक्सप्रेस वे परियोजना के 6 पैकेजों के ईपीसी पद्धति पर कार्य करने के लिए न्यूनतम निविदाएं प्रस्तुत करने वाले निर्माणकर्ताओं को मंजूरी दे दी गयी है। 

इनका किया गया चयन

 पैकेज 12 के लिए एप्को इन्फ्राटेक प्रा.लि.
 पैकेज 3 के लिए अशोका बिल्डकॉन लि.
 पैकेज 45 के लिए पवार कन्सट्रक्शन लि.
 पैकेज 6 के लिए दिलीप बिल्डकॉन लि.

बुन्देलखण्ड एक्सप्रेस-वे परियोजना के क्रियान्वयन व निर्माण कार्यों के लिए तकनीकी स्टाफ को रखे जाने की प्रक्रिया पर भी मंत्रिपरिषद ने अपनी मंजूरी दी। इस एक्सप्रेस-वे के निर्माण से बुन्देलखण्ड क्षेत्र के जनपदों के लिए प्रदेश की राजधानी से आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे एवं यमुना एक्सप्रेस वे के माध्यम से देश की राजधानी तक तेज गति की सुगम यातायात सुविधा उपलब्ध होगी। एक्सप्रेस-वे के निर्माण से इस पूरे क्षेत्र में विकास के नये द्वार खुलेंगे। इस एक्सप्रेस वे में प्रवेश नियंत्रित होगा जिससे इसमें यात्रा करने से ईधन की भी बचत होगी तो वहीं प्रदूषण पर भी खास नियंत्रण हो सकेगा। आसपास के क्षेत्रों का सामाजिक एवं आर्थिक विकास के साथ ही कृषि, वाणिज्य, पर्यटन तथा उद्योगों को भी बढ़ावा मिलेगा। एक्सप्रेस वे के पास इण्डस्ट्रियल ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट, शिक्षण संस्थान, मेडिकल संस्थान आदि की स्थापना हेतु भी अवसर उपलब्ध होंगे।

एक्सप्रेस-वेे के निर्माण में बुन्देलखण्ड क्षेत्र में पर्यटन विकास को बल मिलेगा एवं विकास से वंचित इस क्षेत्र का सर्वांगीण तथा बहुमुखी विकास सम्भव हो सकेगा। परियोजना के क्रियान्वयन तथा उसके समीप शिक्षण संस्थाओं, कृषि आधारित उद्योगों की स्थापना से प्रत्यक्ष व अप्रत्यक्ष रूप से लगभग 50000 व्यक्तियों के लिए रोजगार सृजन की सम्भावना है।

एक्सप्रेस-वे के निर्माण का कुल आंकलन लगभग 14849 करोड़ रूपये किया गया है। इस धनराशि के लिए विभिन्न बैंकों से लगभग 7000 करोड़ रुपए का ऋण भी लिया जाना है। इस परियोजना के लिए जो भूमि चाहिए उसके अधिग्रहण के लिए लगभग 2202 करोड़ रूपये की आवश्यकता पड़ेगी। जिसके लिए उत्तर प्रदेश सरकार ने 2157 करोड़ रूपये दे दिये हैं। इस पूरी परियोजना के लिए लगभग 36 माह लगेंगे। 
 

अन्य खबर

चर्चित खबरें

Your Page has been visited    Times