< उदैनिया परिवार हत्या कांड में, घटनास्थल पर ही उलझी रही जांच टीम Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News झाँसी,

थाना सीपरी बाजार क्षेत्"/>

उदैनिया परिवार हत्या कांड में, घटनास्थल पर ही उलझी रही जांच टीम

झाँसी,

थाना सीपरी बाजार क्षेत्र के लहर की देवी मंदिर स्थित दयाराम कॉलोनी में जलाकर मारे गए उदैनिया परिवार के चारों सदस्यों के मामले में पुलिस की जांच घटनास्थल के इर्दगिर्द घूमती रही। पुलिस ने सिलसिलेवार तरीके से पड़ताल कर कई सुबूत जुटाए। पुलिस का जल्द ही नतीजे पर पहुंचने का दावा भी है। वहीं, मृतकों के घर पर भी रिश्तेदार व परिचितों का आना-जाना लगा रहा।

उल्लेखनीय है कि 14 अक्तूबर की रात सीपरी बाजार क्षेत्र के लहर की माता मंदिर के पास स्थित दयाराम कॉलोनी में जगदीश उदैनिया (51), उनकी मां कुमुद (72), पत्नी रजनी (45) व बेटी मुस्कान (19) की सोते समय जलाकर हत्या कर दी थी। हत्याकांड की तह तक जानेे के लिए आठ दरोगाओं की टीम घर पहुंचकर जांच पड़ताल करती रही। सुबह से लेकर देर रात की गई जांच में घटनास्थल के इर्दगिर्द ही घूमती रही। इस दौैरान पुलिस ने कई साक्ष्य एकत्रित किए। कमरे से मिले बक्से को उठाकर घर के पास बने बाड़े में लाया गया।

रिश्तेदारों के सामने सीपरी बाजार प्रभारी निरीक्षक संजय कुमार गुप्ता ने टीम के साथ बक्सा खोला। बताया गया है कि बक्से से नगदी, जेवरात, रजिस्टर व अन्य सामान मिला है। बरामद हुए सभी सामान को पुलिस ने कब्जे में लिया है। पुलिस ने कमरे से जली अवस्था में मिले सूटकेस को भी खंगाला। कई जले हुए सामान के नमूनों को भी कब्जे में लिया। पड़ताल मेें कई महत्वपूर्ण सुराग मिले हैं, जिनको पुलिस ने अपनी सुपुर्दगी में लिया है। पुलिस ने भाई सहित पड़ोसियों से भी घटना की जानकारी ली। सुराग के आधार पर पुलिस करीबी का हाथ मानकर चल रही है। वहीं, घटना के बाद को भी घर पर रिश्तेदार परिचितों का आना-जाना लगा रहा।

कट्टिया में मिला साढ़े चार लीटर पेट्रोल घटनास्थल के पास पुलिस को एक कट्टिया मिली थी, इसमेें साढ़े चार लीटर पेट्रोल मिला है। यदि हादसे के समय यह कट्टिया आग की चपेट में आती तो आग पर काबू होना मुश्किल होता। वहीं, पुलिस को निरीक्षण के दौैरान एक अन्य कट्टिया के टुकड़े भी मिले हैं, जिससे माना जा रहा है कि एक और पेट्रोल से कट्टिया से ही आग लर्गाई गई होगी। 

 एक सप्ताह के भीतर आएगी फोरेंसिक रिपोर्ट आगरा से आई पांच सदस्यीय फोरेंसिक टीम भी घटनास्थल का निरीक्षण कर मकान व आसपास से नमूने एकत्रित कर ले गई। बताया गया है कि फोरेंसिक जांच की रिपोर्ट सप्ताह के भीतर आएगी। ऐसे में स्थिति काफी हद तक साफ हो जाएगी, लेकिन जांच रिपोर्ट आने से पहले भी पुलिस के हाथ कई सुबूत लग गए हैं।

शटर पर भी चलती रही जांच शटर की नाप करने के बाद रविवार को पुलिस की जांच सबसे ज्यादा शटर पर केंद्रित रही। शटर मिस्त्रियों को बुलाकर भी जांच कराई गई। दो मिस्त्रियों ने बारीकी से जांच कर पुलिस को बताया कि जिस तरीके से शटर को खोला गया है, उससे साफ है कि यह काम एक व्यक्ति का नहीं, बल्कि कम से कम दो लोगाें का होगा, क्योंकि शटर को तोड़ा नहीं गया बल्कि बारीकी से खोलकर एक तरफा रखा गया।

अन्य खबर

चर्चित खबरें

Your Page has been visited    Times