< खजुराहो से कालिंजर का कनेक्ट होना जरूरी : डीएम Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News @बांदा,

12 से 16 नवम्बर तक च"/>

खजुराहो से कालिंजर का कनेक्ट होना जरूरी : डीएम

@बांदा,

12 से 16 नवम्बर तक चलने वाले कालिंजर महोत्सव का हुआ खजुराहो से आगाज़

 

उत्तर प्रदेश के जनपद बांदा में ऐतिहासिक कालिंजर दुर्ग में आगामी 12 से 16 नवंबर को होने जा रहे कालिंजर महोत्सव का आगाज शनिवार को जिलाधिकारी बांदा ने विश्व पर्यटन स्थल खजुराहो से किया। उन पत्रकारों को महोत्सव में आयोजित कार्यक्रमों की जानकारी देते हुए कहा कि खजुराहो से अगर कालिंजर कनेक्ट हो गया तो दोनों पर्यटन स्थलों को फायदा होगा।

खजुराहो के एक होटल में आयोजित प्रेस वार्ता के दौरान जिलाधिकारी हीरालाल ने बताया कि कालिंजर महोत्सव को यादगार बनाने के लिऐ विभिन्न प्रकार के कार्यक्रम आयोजित किए गए है। जिसमें हाॅट एयर बैलून राइडिंग, हेलीकाॅप्टर जाॅय राईडिंग और मोटर ग्लाइडिंग के अलावा विश्व प्रसिद्ध कलाकारों द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। एक जिला एक उत्पाद एवं विश्व प्रसिद्ध उत्पादों के स्टाॅल लगाए जाएंगे और आने वाले पर्यटकों को सरकार द्वारा चलाई जा रही योजनाओं की जानकारी दी जाएगी।

उन्होंने टूर आपरेटरों से अपील की कि खजुराहो आने वाले देश विदेशी पर्यटकों को इस महोत्सव में लेकर आए और विश्व कला की अनुपम धरोहर कालिंजर का दर्शन कराएं। यह वह ऐतिहासिक दुर्ग है जिसकी गणना चंदेलों के 8 प्रमुख दुर्गों में की जाती है।

कालिंजर का पौराणिक महत्व शिव के विषपान से है मान्यता है कि समुद्र में निकले विष का पान करके जब भगवान शिव का कंठ नीला पड़ गया था, तब इसी स्थान पर आकर काल पर विजय प्राप्त की थी। वही शिव यहां भगवान नीलकंठ के नाम से जाने जाते है। पत्रकारों द्वारा पूछे गए सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि भारत सरकार द्वारा कालिंजर के विकास के लिए 8 करोड़ 73 लाख रुपए दिए गए है। शीघ्र ही दुर्ग में सुंदरीकरण का काम होगा।

जिलाधिकारी ने पर्यटकों को आमंत्रित किया

प्रेस वार्ता के दौरान जिलाधिकारी हीरा लाल, एसडीएम नरैनी वंदिता श्रीवास्तव, टूरिज्म अधिकारी शांति सिंह और एसडीएम खजुराहो ने खजुराहो के मंदिरों व दुकानों आदि में पहुंचकर देशी-विदेशी पर्यटकों को कालिंजर महोत्सव से संबंधित पंपलेट बांटे और उन्हें महोत्सव में आने के लिए आमंत्रित किया, साथ ही विश्वास दिलाया कि हम इस बार कालिंजर आने और प्रवास के दौरान पर्यटकों को किसी तरह की असुविधा नहीं होने देगें। डीएम की अपील पर पर्यटकों ने में उत्साह दिखा और कालिंजर देखने की लालसा भी दिखाई पड़ी।


 

अन्य खबर

चर्चित खबरें

Your Page has been visited    Times