< भीषण बारिश से जलमय हुआ जनपद, मंदाकिनी खतरे के पार Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News @राजकुमार याज्ञिक, चित्र"/>

भीषण बारिश से जलमय हुआ जनपद, मंदाकिनी खतरे के पार

@राजकुमार याज्ञिक, चित्रकूट 

10 से 12 घंटे हुई अनवरत भारी बारिश से जनजीवन अस्त व्यस्त

रात्रि में हुई मूसलाधार बारिश से जनपद जलमय हो गया। सवेरे लोगों की आम दिनचर्या अस्त व्यस्त रही। गली-मोहल्लों में नालियों की सफाई न हेोने के चलते लबालब पानी घरों में घुसने से परेशानी हुई। मंदाकिनी नदी खतरे के निशान को पार गई। बरदहा नदी समेत नाले उफना गए। रामघाट के दुकानदारों में अफरा-तफरी मच गई। जल स्तर बढ़ने से दुकानें जलमग्न हो ई। मुख्यालय आ रहे तहसीलदार के वाहन के फंसने से किसी तरह वाहन से निकले।

गली-मोहल्ले पानी से लबालब, पहाडी नदियां, नाले उफनाए बारिश के माह में हुई पहली बार दस घंटे मूसलाधार बरसात ने आम दिनचर्या खासा प्रभावित कर दिया। मंदाकिनी में आई बाढ़ से रामघाट स्थित लगभग आधा सैकड़ा दुकानें जलमग्न हो गई। जल स्तर बढ़ता देख दुकानदार रात्रि में ही दुकानों का सामान सुरक्षित स्थान पर पहुंचाने लगे। भारी वर्षा के चलते देखते-देखते मंदाकिनी की धार रफ्तार पकडते ही रामघाट में लगभग 15 फिट पानी ऊपर आ गया। मंदाकिनी नदी में उफान से वहा अफरा-तफरी का माहौल रहा। दुकाने पूरी तरह डूब गई। आवागमन ठप हेो गया। अस्पताल, मंदिर तक जाने में लोगों को मशक्कत करना पडा।

रामघाट में आधा सैकडा दुकाने जलमग्न, प्रशासन ने लिया जायजा पानी से गुजर कर निकले। वाहन पूरी तरह बंद रहे। सड़कों पर नावें चलने लगी। रामघाट का नजारा देखने को लोगों का हुजूम लगा रहा। सुरक्षा व्यवस्था के लिए तैनात पुलिस को पहुंचे एसडीएम सदर एके पाण्डेय, सिंचाई विभाग के एक्सईएन आशुतोष कुमार, नगर पालिका ईओ नरेन्द्र मोहन मिश्र ने निरीक्षण कर बाढ का जायजा लिया है।

एसडीएम सदर ने निर्देश दिया कि किसी भी व्यक्ति को नदी में न जाने दिया जाये।चौकी प्रभारी लाउड हेलर से लोगों को समय-समय पर अलर्ट करते रहे। इसी प्रकार बारिश का आलम इस कदर रहा कि मुख्यालय स्थित मंदाकिनी के उफान को देखने के लिए लोग पुल पर जमा हो गए। कुछ बारिश थमने पर लोग बाढ़ का नजारा देखने पहुंचे। अपरान्ह बाद फिर बारिश शुरू हो गई जो देर रात तक चली। भारी बारिश के अलर्ट के चलते डीएम ने नगर पालिका, नगर पंचायतों के अधिकारियों को नालियों की सफाई के निर्देश दिए थे, किन्तु सफाई न कराने के चलते नालिया जाम होने से जलभराव की स्थिति रही। मोहल्लेवासी एक फिट गंदे पानी से होकर गुजरेने को मजबूर देखे गए।

अन्य खबर

चर्चित खबरें

Your Page has been visited    Times