< Voda - idea का गठबंधन हुआ धड़ाम उपभोक्ता परेशान Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का डिजिटल इंडिया का स्वप्न टेली"/>

Voda - idea का गठबंधन हुआ धड़ाम उपभोक्ता परेशान

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का डिजिटल इंडिया का स्वप्न टेलीकॉम कंपनीज ध्वस्त करने पर उतर चुकी हैं। टूजी से निजात मिलने के बाद 3G और 4G का समय आया। फोरजी नेटवर्क की पहचान अब फ्राडजी से होने लगी है। बुंदेलखण्ड की धड़कन बांदा में उपभोक्ताओं की धड़कन थम चुकी 

उपभोक्ता नेटवर्क ईश्यू की शिकायत लेकर कहाँ जाए ? कभी वोडाफोन की दहलीज में तो कभी आयडिया के दहलीज में पर दोनों दहलीज पर उपभोक्ता का आश्रय - प्रश्रय ना मिलकर समस्या का समाधान असंभव हो जाता है। बेचारा उपभोक्ता मोबाइल में " इमर्जेंसी काल " को देख देख कर करम ठोकता रहता है और टेलीकॉम कंपनी अपनी मस्ती मे मस्त हैं। इनसे मतलब नहीं है कि डिजिटल इंडिया के समय में लोगों के काम बाधित होते हैं। बहुत से उपभोक्ताओं को भारी नुकसान उठाना पड़ रहा है। 

 

अगर आप आइडिया के ''FACEBOOK '' पेज पर जाएंगे तो कुछ इस तरह का लोगो का आक्रोश देखने को मिलेगा ............!!!!

 

4G नेटवर्क की शिकायत को लेकर खूब प्रयास हुआ परंतु कंपनी के अधिकारी समस्या सुलझाने हेतु तत्पर नजर नहीं आते। आयडिया के स्टोर से वोडाफोन के स्टोर पर जाओ और यही चक्र शुरू रखने के लिए स्टोर आनर सुझाव देते हैं। समस्या है कि सुलझने का नाम नहीं ले रही है। 

अब उपभोक्ताओं के मन में एक ही सोच जन्म ले रही है। क्यों ना वोडाफोन औय आयडिया पर वाद पंजीकृत करा दिया जाए। उपभोक्ता अधिनियम के अंतर्गत अवसाद से लेकर काम के नुकसान तक का मामला दर्ज कराना चाहिए। चूंकि नेटवर्क ईश्यू के चलते काम नहीं हो पाते, जिससे अवसाद जन्म लेता है। अवसाद की वजह से स्वास्थ्य पर बुरा असर पड़ता है। इसलिये उपभोक्ताओं ने इस लड़ाई को लड़ना उचित समझा है। बेशक वोडाफोन और आयडिया पर संयुक्त रूप से कार्रवाई होनी चाहिए। चूंकि इनका गठबंधन धड़ाम हो चुका है।

आम आदमी, व्यवसायी आदि को फोर जी सर्विस नहीं मिलने से भारी नुकसान उठाना पड़ रहा है। समय रहते समस्या हल नहीं हुई तो दोनों कंपनी के खिलाफ वाद पंजीकृत करवाने की बात उपभोक्ताओं द्वारा मुख्य रूप से कही गई है। 

अन्य खबर

चर्चित खबरें

Your Page has been visited    Times