< 12वीं के छात्र ने बना दी Unique Car, देखकर हैरान हो जायेंगे Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News दुनिया की सबसे सस्ती कार बनाने का दावा : कौश"/>

12वीं के छात्र ने बना दी Unique Car, देखकर हैरान हो जायेंगे

दुनिया की सबसे सस्ती कार बनाने का दावा : कौशल इसे दुनिया की सबसे सस्ती स्पाेर्ट्स कार होने का वह दावा भी कर रहे हैं। इस तरह की काराें की कीमत एक कराेड़ के आस-पास होती है, जबकि इस कार काे बनाने में महज दस से बारह लाख रुपये की ही लागत आई है। सबसे बड़ी बात है कि इस कार का इंजन ही बिजली से चलने में सक्षम है, जबकि अभी तक इलेक्ट्रिक माेटर के सहारे काराें काे इलेक्ट्रिक कार में बदला जाता है। इस स्पाेर्ट्स कार की कीमत भी बहुत काम है।

दिल्ली से नोएडा आकर रहेंगे कौशल : काैशल के इस काम के लिए उन्हें एनसीआटीसी की तरफ से आयोजित हाेने वाले विज्ञान प्रदर्शनी में प्रथम पुरस्कार मिल चुुका था। यूपी के एटा के रहने वाले किसान संताेष कुमार के पुत्र काैशल में प्रतिभा की कमी नहीं है, लेकिन पैसाें की कमी के कारण वह आगे की शिक्षा में समर्थ नहीं थे। ऐसे में उनकी प्रतिभा काे देखकर एमिटी विश्वविद्यालय नाेएडा ने उन्हें आटो माेबाइल इंजीनियरिंग में बीटेक में दाखिला दे दिया है। अब काैशल राेहिणी सेक्टर-25 से एमिटी विवि के हॉस्टल में शिफ्ट हाेने वाले हैं।

कक्षा दस में बना दिया था मिनी बुलडाेजर : आर्थिक रूप से कमजाेर हाेने के कारण काैशल ने सर्वाेदय विद्यालय सरस्वती विहार दिल्ली में दाखिला लिया। उनके अंदर आटो माेबाइल इंजीनियरिंग काे लेकर बचपन से आकर्षण है। वह इंटरनेट और लाेगाें से किताबें दोस्तों-साथियों से मांगकर आटो माेबाइल इंजीनियरिंग की पढ़ाई करते थें। 10वीं की परीक्षा पास करने के बाद उन्हाेंने मिनी बुलडाेजर बनाया था, जिसके लिए उन्हें दिल्ली विज्ञान प्रदर्शनी में पुरस्कार भी मिला था। इसके बाद कई अन्य पुरस्कार भी मिले।

कार की खासियत : कार का इंजन ही इलेक्ट्रिक हैै । यह कार 120-170 किलाेमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार से चल सकती है। कार में इंजन पीछे की तरफ है, जिससे कार की रफ्तार बढ़ाई जा सकेगी। कार की छत काे पूरी तरह से खाेला जा सकता है। कार के निर्माण में पूरी तरह से स्वदेशी चीजाें का इस्तेमाल हुआ है। कार में पेट्राेल और डीजल इंजन का इस्तेमाल भी किया जा सकता है। यह कार 5 सेकंड में 40 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार भर सकती है ।

मोदी के इरादों पर फिदा हुए कौशल : एक साल पहले वह प्रधानमंत्री नरेंद्र माेदी के इलेक्ट्रिक वाहन काे बढ़ावा देने के विचार से प्रेरित हाेकर स्पाेर्ट्स कार बनाने में लग गए। इसके लिए उन्हें पैसे की जरूरत थी। वह अपने प्रस्ताव के साथ माेटर निर्माण में जुड़ी कई कंपनियाें से मिले, लेकिन बहादुरगढ़ (हरियाणा) की एक कंपनी ने उन्हें आर्थिक सहयाेग का भराेसा दिया। फिर काैशल ने पुरस्काराें में मिले पैसे और कंपनी के सहयाेग से दुनिया की सबसे सस्ती इलेक्ट्रिक स्पाेर्ट्स कार बना दी। 

अन्य खबर

चर्चित खबरें

Your Page has been visited    Times