< कैंसर के मरीजों को राहत, 85 फीसद तक हुई सस्ती दवाएं Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News

कैंसर के मरीजों को राहत, 85 फीसद तक हुई सस्ती दवाएं

कैंसर से लड़ रहे मरीजों के लिए राहत भरी खबर है। इस रोग से लडऩे वाली 42 दवाओं का ट्रेड प्रॉफिट मार्जिन किसी भी दशा में तीस फीसद से अधिक नहीं होने के आदेश के चलते इनकी कीमतें 85 फीसद तक सस्ती हो गई हैं। इन दवाओं को ड्रग्स प्राइस कंट्रोल ऑर्डर (डीपीसीओ) 2013 के पैरा 19 के तहत शामिल किया गया है।

नई कीमत की यह दवाएं बाजार में उपलब्ध भी हो गई हैं। राष्ट्रीय औषधि मूल्य निर्धारण प्राधिकरण (एनपीपीए) ने जनहित में यह फैसला लिया है। इस फैसले से कैंसर मरीजों और उनके परिजनों पर पडऩे वाले खर्च का बोझ काफी हद तक कम हो जाएगा।

30 फीसद से ज्यादा लाभ नहीं ले सकेंगे

भारत के औषधि महानियंत्रक (डीसीजीआइ) ने कैंसर की 42 नॉन शेड्यूल दवाएं ड्रग प्राइस कंट्रोल ऑर्डर (डीपीसीओ) के तहत लाने की अधिसूचना 27 फरवरी को जारी की है। इसमें स्पष्ट किया गया है कि फार्मा कंपनियां इन दवाओं में अधिकतम 30 फीसद तक ही लाभ (ट्रेड मार्जिन प्रॉफिट) ले सकेंगी।

पुराना स्टॉक लिया वापस

अधिसूचना से यूपी समेत सभी राज्यों के औषधि नियंत्रक को अवगत कराने के साथ तुरंत प्रभाव से लागू करने का आदेश दिया गया। साथ ही मूल्य की सूची भी उपलब्ध कराई गई है। इसके हिसाब से मूल्य निर्धारण के लिए मार्च तक का समय दिया था। इसके बाद अप्रैल अंत तक पुराना स्टॉक कंपनियों ने वापस ले लिया है।

इस संबंध में औषधि निरीक्षक अरविंद गुप्ता ने बताया कि फार्मा कंपनियों को पुराना स्टॉक वापस करा दिया गया है। नई एमआरपी की दवाएं फुटकर विक्रेताओं तक पहुंच गई हैं। अगर कोई फुटकर दवा विक्रेता कैंसर की दवाएं पुरानी दरों पर बेचता है तो इसकी तुरंत सूचना दें। ऐसे विक्रेता के खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी।

About the Reporter

अन्य खबर

चर्चित खबरें

Your Page has been visited    Times