< जहरीली शराब कांड- यूपी-उत्तराखंड में अभी तक 70 लोगों की गई जान Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News यूपी में 10 पुलिसकर्मी सस्पेंड, चूहामार दवा मिलाने की आश"/>

जहरीली शराब कांड- यूपी-उत्तराखंड में अभी तक 70 लोगों की गई जान

यूपी में 10 पुलिसकर्मी सस्पेंड, चूहामार दवा मिलाने की आशंका
उत्तराखंड में आबकारी के 13 अफसर, 3 पुलिसकर्मी निलंबित 

उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में जहरीला शराब कांड ने भयावह रूप ले लिया है। अवैध शराब के कारण 70 लोगों की मौत की जान जा चुकी है। उत्तराखंड के हरिद्वार में जहां 13 लोगों ने जान गवां दीं वहीं सहारनपुर में 46 और कुशीनगर में 11 लोगों की मौत हुई है। इतनी बड़ी संख्या में मौतों के बाद यूपी पुलिस, प्रशासन और आबकारी विभाग हिला हुआ है।

सहारनपुर के जिलाधिकारी ने बताया कि शराब को जांच के लिए लखनऊ लैब भेजा जा रहा है। 405 लीटर अवैध शराब जब्त की गई है। अभी तक की जानकारी में ऐसे संकेत मिले हैं कि शराब को तेज बनाने के लिए रैट पॉइजन (चूहामार दवा) का भी इस्तेमाल किया जाता था। उन्होंने बताया कि सहारनपुर के कुछ लोग मेरठ के अस्पताल में भी भर्ती हैं।

तीन थानों में एफआईआर दर्ज की गई है। 30 लोग गिरफ्तार किए गए हैं और कुछ पर एनएसए लगाने की भी तैयारी है। सहारनपुर-उत्तराखंड सीमा पर जहां ये शराब बन रही थी वहां अभियान चलाया जाएगा। इस मामले में सरकार ने सहारनपुर और कुशीनगर के जिला आबकारी अधिकारियों समेत 21 को निलंबित कर दिया है।

कुशीनगर के तरयासुजान थाना प्रभारी समेत 4 पुलिसकर्मी और 5 आबकारी कर्मचारी, सहारनपुर में नगला थाना प्रभारी समेत 10 पुलिसकर्मी निलंबित किए गए हैं। उत्तराखंड में भी आबकारी के 13 अफसर और 3 पुलिसकर्मी निलंबित किए गए हैं। गौरतलब है कि ये शराब पीने वाले लोग अधिकतर मजदूर हैं और सस्ती मिलने के कारण इस तरह की कच्ची या मिलावट वाली शराब पी लेते हैं। 

सहारनपुर और कुशीनगर के जिन इलाकों में ये हादसे हुए हैं वहां मातम पसरा हुआ है। मृतकों के परिवारवालों का रो-रोकर बुरा हाल है। सहारनपुर जिले के नागल, गागलहेड़ी और देवबंद थाना क्षेत्र के कई गांवों से शुक्रवार (08 फरवरी) को ये खबर आई थी। इस बड़ी लापरवाही पर एसएसपी दिनेश कुमार ने नागल थाना प्रभारी सहित दस पुलिसकर्मी और आबकारी विभाग के तीन इंस्पेक्टर व दो कांस्टेबल सस्पेंड कर दिए हैं।

कुशीनगर में अब तक 11 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि सहारनपुर में 18 लोगों की मौत हो चुकी हैं और कई लोगों की हालत गंभीर बताई जा रही है। एसएसपी ने बताया कि नागल थाना प्रभारी हरीश राजपूत, एसआई अश्वनी कुमार, अय्यूब अली और प्रमोद नैन के अलावा कांस्टेबल बाबूराम, मोनू राठी, विजय तोमर, संजय त्यागी, नवीन और सौरव को सस्पेंड कर दिया गया है। आबकारी के सिपाही अरविंद और नीरज भी निलंबित किए गए हैं। मृतकों में लगभग सभी मजदूरी करने वाले हैं। 

एसएसपी का कहना है कि मृतकों का पोस्टमार्टम कराने की तैयारी चल रही है। जहरीली शराब से मृतक संख्या लागातार बढती देख प्रशासन ने गांव दर गांव धार्मिक स्थलों से एलान कराना शुरू किया है कि लोग शराब न पिए। साल 2009 में जहरीली शराब पीने से देवबंद क्षेत्र में 30 लोगों की मौत हो गई थी।

वहीं, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सहारनपुर और कुशीनगर में अवैध शराब से लोगों की मौत की घटना का संज्ञान ले लिया था। उन्होंने सहारनपुर के साथ कुशीनगर के जिलाधिकारियों को प्रभावित व्यक्तियों की समुचित चिकित्सा सुनिश्चित करने का निर्देश दिया और घटनाओं में मृतकों के आश्रितों को दो-दो लाख रुपये और अस्पतालों में उपचार करा रहे प्रभावितों को 50-50 हजार रुपये की आर्थिक सहायता देने की घोषणा की थी।

उधर, उत्तराखंड के रुड़की में जहरीली शरीब प्रकरण में अब तक 20 लोगों की मौत हो गई। मामले की जांच के लिए प्रशासन ने मजिस्ट्रेटी जांच बैठाई तो पुलिस ने एसआईटी का गठन किया गया है। उत्तराखंड के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (एडीजीपी) अशोक कुमार ने बताया कि गुरुवार (07 फरवरी) की शाम झबरेड़ा क्षेत्र में स्थित बालूपुर गांव में एक मृतक की तेरहवीं में अवैध शराब परोसी गई, जिसके बाद शुक्रवार (08 फरवरी) को लोगों की तबीयत खराब हो गई, जिसमें 20 लोगों की मौत हो गई।

घटना के बाद रुड़की तहसील मुख्यालय में डीएम दीपक रावत और एसएसपी जन्मेंजय खंडूरी ने बैठक ली और इस सिलसिले में की जा रही कार्रवाई की जानकारी दी। सीईओ मंगलौर बीएस रावत इस पूरे प्रकरण की जांच करेंगे। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक जन्मेजय खंडूरी ने बताया कि एसपी देहात नवनीत भुल्लर के नेतृत्व में प्रकरण की विवेचना के लिए एसआईटी का गठन किया गया है।

एसआईटी में सीओ मंगलौर डीएस रावत, नवनियुक्त एसओ कमल मोहन भंडारी और इकबालपुर चौकी प्रभारी अजय जाटव को शामिल किया गया है। 15 दिन में जांच कर रिपोर्ट देने को कहा गया है। उन्होंने बताया कि कुछ लोगों के नाम सामने आए है। कुछ को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। 

 

About the Reporter

  • ,

अन्य खबर

चर्चित खबरें

Your Page has been visited    Times