< चार न्यूक्लियर पावर एयरक्राफ्ट कैरियर शिप बनाएगा चीन Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News

चार न्यूक्लियर पावर एयरक्राफ्ट कैरियर शिप बनाएगा चीन

चीन ने 2035 तक चार न्यूक्लियर पावर एयरक्राफ्ट कैरियर बनाने की योजना तैयार की

दुनिया की सबसे मजबूत नौसेना अमेरिका के पास है  इसकी बराबरी करने के लिए चीन ने 2035 तक चार न्यूक्लियर पावर एयरक्राफ्ट कैरियर बनाने की योजना तैयार की है। चीन तेजी से ब्लू आर्मी का निर्माण कर रहा है, जिसके लिए उसने अंतर्राष्ट्रीय पानी में अपने पैर पसारे हैं. दक्षिण चीन सागर में इसने अमेरिका सहित आधा दर्जन से ज्यादा देशों संग लोहा लिया है.।

हिंद महासागर में चीन की बढ़ती मौजूदगी से भारत भी चिंतित है. नौसेना विशेषज्ञ और पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) के रिटायर्ड विध्वंसक नौसेना अधिकारी वांग युनफेई ने साउथ चाइना मोर्निग पोस्ट को बताया ‎कि ईएमएएलएस जैसी प्रणाली से लैस चीन के परमाणु युक्त एयरक्राफ्ट कैरियर 2035 तक नौसेना में शामिल हो सकते हैं।

इससे एयरक्राफ्ट कैरियरों की संख्या बढ़कर कम से कम छह हो जाएगी। हालांकि, उसमें से केवल चार ही फ्रंटलाइन पर काम करेंगे। वांग ने कहा ‎कि देश को तबतक विकास करने की जरूरत है, जब तक वो अमेरिका के बराबर तक नहीं पहुंच जाता।

विश्व की दूसरी सबसे बड़ी नौसेना का मकसद अमेरिका के साथ कद बराबर करना है और इसके अलावा दक्षिण और पूर्वी चीन सागर में क्षेत्रीय विवाद के कारण भी बीजिंग शक्तिशाली नौसेना का निर्माण करने के लिए आगे बढ़ा है। चीन के पास फिलहाल दो एयरक्राफ्ट कैरियर हैं, जबकि अमेरिका के पास 19 एयरक्राफ्ट कैरियर हैं।

वांग ने कहा कि चीन में आर्थिक मंदी से इन कैरियरों के लिए बजट प्रभावित नहीं होगा। हम नए टैंकों की संख्या में कटौती कर सकते हैं। अगर हम ताइवान को फिर से चीन में मिलाने (बल प्रयोग करने) का भी फैसला करते हैं, तो भी सेना के आधुनिकीकरण के लिए बजट में कटौती नहीं की जाएगी। युद्ध की स्थिति में (बीजिंग) बुनियादी सुविधा जैसे फंड पर खर्च में कटौती की जा सकती है, लेकिन सैन्य खर्च बढ़ाया जाएगा।

About the Reporter

अन्य खबर

चर्चित खबरें

Your Page has been visited    Times