< सपा-बसपा गठबंधन के बाद अब आरएलडी जुड़ सकती है कांग्रेस से? Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News यूपी में सपा बसपा की चुनावी दोस्ती के बाद राष्ट्रीय लोकदल आरएलड"/>

सपा-बसपा गठबंधन के बाद अब आरएलडी जुड़ सकती है कांग्रेस से?

यूपी में सपा बसपा की चुनावी दोस्ती के बाद राष्ट्रीय लोकदल आरएलडी अपने को उपेक्षित समझ रही है लिहाजा वह कांग्रेस से हाथ मिला सकती है। दोनों ने गठबंधन से कांग्रेस को दूर रखा है, वहीं अन्य संभावित सहयोगी दलों के लिए सिर्फ 2 सीटें छोड़ी हैं। इस तरह, इस गठबंधन में अजित सिंह की राष्ट्रीय लोकदल के शामिल होने की गुंजाइश भी करीब-करीब खत्म हो गई है।

सूत्रों के मुताबिक, अब आरएलडी गठबंधन का हिस्सा नहीं होगी और वह कांग्रेस के साथ जुड़ सकती है। आरएलडी भी गठबंधन का हिस्सा बनना चाहती थी और सपा भी ऐसा ही चाहती थी। लेकिन असल पेच सींटों का फंसा। दिल्ली में अखिलेश यादव और मायावती की मुलाकात के बाद राष्ट्रीय लोकदल के उपाध्यक्ष जयंत चौधरी ने लखनऊ में सपा अध्यक्ष से मुलाकात की थी।

इस मुलाकात में जयंत चौधरी ने पश्चिमी यूपी की 5 लोकसभा सीटों पर दावा पेश किया था। इनमें बागपत, अमरोहा, हाथरस, मुजफ्फरनगर और मथुरा लोकसभा सीटें थीं। सूत्रों के मुताबिक, मायावती किसी भी कीमत पर आरएलडी को 2 सीटों से ज्यादा देने के लिए राजी नहीं थी। अब जब, सपा-बसपा ने अन्य संभावित दलों के लिए सिर्फ 2 सीटें छोड़ी हैं जो आरएलडी को शायद ही मंजूर हो।

कांग्रेस और आरएलडी यूपी में पहले भी गठबंधन करके चुनाव लड़ चुकी हैं। अभी वह राजस्थान में कांग्रेस सरकार का हिस्सा भी है। लिहाजा दोनों को फिर साथ आने में कोई समस्या नहीं है। आरएलडी का जो भी प्रभाव है, वह पश्चिमी यूपी तक ही सीमित है। पिछले लोकसभा चुनाव में तो पार्टी खाता तक नहीं खोल पाई थी। हालांकि, बाद में कैराना में हुए उपचुनाव में सपा और बसपा के समर्थन से आरएलडी उम्मीदवार की जीत हुई। 

 

About the Reporter

  • ,

अन्य खबर

चर्चित खबरें

Your Page has been visited    Times