< डीजीपी द्वारा ई-मालखाना और नई पुलिस चौकी का उद्घाटन Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News आबादी के अनुपात में उत्तर प्रदेश में कानून-व्यवस्था सुदृढ रखने क"/>

डीजीपी द्वारा ई-मालखाना और नई पुलिस चौकी का उद्घाटन

आबादी के अनुपात में उत्तर प्रदेश में कानून-व्यवस्था सुदृढ रखने के लिए 1 लाख 29 हजार पुलिस कर्मियों की जरूरत है। अगले साल तक कम से कम एक लाख पुलिस कर्मियो की भर्ती की जायेगी।

यह बात शनिवार को पुलिस महानिरीक्षक उ0प्र0 ओपी सिंह ने यहां सर्किट हाउस में पत्रकारों से बातचीत के दौरान कही। उन्हांेने पूछे गये एक सवाल के जबाब में बताया कि वर्तमान समय 1200 व्यक्तियों में एक पुलिस कर्मी है। आबादी के अनुपात में 1 लाख 29 हजार पुलिस कर्मी होने चाहिये। इसके लिए कवायद जारी है। कुछ दिन पहले भर्ती किये गये 27 हजार पुलिस कर्मियों की ट्रेनिगं चल रही है। जून में 42 हजार पुलिस कर्मियों की भर्ती के लिए परीक्षा हुई है और अगले साल 40-45 हजार और पुलिस कर्मियो की भती करके उत्तर प्रदेश में पुलिस कर्मियो की कमी को पूरा किया जायेगा।

डीजीपी ने बताया कि वर्तमान समय पुलिस कर्मियो की कमी को देखते हुए तकनीकी माध्यमांे से इस कमी को पूरा किया जा सकता है। उन्होंने जनपद चित्रकूट का जिक्र करते हुए कहा कि वहां दस्यु समस्या को देखते हुए ड्रोन कैमरे और सीसीटीवी कैमरे से निगरानी की जा सकती है। उन्हांेने कहा कि हमारी प्राथमिकता है कानून व्यवस्था को दुरूस्त रखना। इसके लिए अपराधियों के खिलाफ अभियान चला कर पांच हजार इनामी वंछित अपराधियांे को गिरप्तार किया गया है। गिरप्तारी के दौरान इनमें कुछ अपराधियो ने पुलिस पर गोेली चलाई, जवाब में आत्मरक्षार्थ पुलिस द्वारा चलाई गई गोेली में 62 बदमाश भी मारे गए है।

इस दौरान पुलिस कर्मियो के कार्य व्यवहार में सुधार के लिए उन्हें टेªनिंग दी गई जिससे काफी सुधार आया है। जिनके आचारण अच्छे नही हैं उन्हे बर्खास्त भी किया गया है। ऐसे 20 पुलिस कर्मी है जिन्हें बर्खास्त किया गया है। इसकी शुरूआत मैने पद भार संभालने के बाद आपके बाँदा से ही की थी। डीजीपी ने कहा कि डायल 100 बहुत अच्छा काम कर रही है। मुख्यमंत्री की इच्छा है कि घटनास्थल पर इनके पहुंचने की टाइमिंग कम से कम 10 मिनट की जायें। फिलहाल अब 15 मिनट में यह दूरी तय हो रही है लेकिन बाँदा और महोबा में यह दूरी मात्र 8 मिनट में तय की जाती है।

इस के पहले डीजीपी ने सदर कोतवाली में ई-मालखाने का उद्घाटन किया और कहा कि इस माॅडल को पूरे उत्तर प्रदेश में अपनाया जा सकता है। यह एक अच्छा प्रयास है जिसमें मुकदमाती सामान तमंचा, गांजा, सहित अन्य सामान को बंैक की तरह बनाये गये लाॅकर में रखा गया है जिसका डाटा कम्प्यूटर में फीड है, जिस मुकदमें में जो सामान चाहिये आसानी से मिल जायेगा। उन्होंने कोतवाली में महिला सम्मान कक्ष और पुलिस लाइन में पार्लर व जिम का उद्घाटन किया। और अपराधियांे को गिरफ्तार करने वाले पुलिस कर्मियों व थाना इंचार्जो को पुरस्कृत करने के बाद मेधावी छात्र-छात्राओं को सम्मानित किया। इस मौके पर डीआईजी मनोज तिवारी, एडीजी (उ0प्र0) एसएन सावंत, चित्रकूट परिक्षेत्र के पुलिस अधीक्षक शालिनी (बाँदा) एन कोलांछी (महोबा) मनोज कुमार झा (चित्रकूट) अजय कुमार सिंह (हमीरपुर) के अलावा चारो जनपदांे के सीओ, एसओ और एचएसओ मौजूद रहे। बाद में डीजीपी ने अतर्रा (बाँदा) में स्थित महुटा पुलिस चैकी का उद्घाटन किया।

समारोह में जिन पुलिस कर्मियों को सम्मानित किया उनमें कमासिन थाना इंचार्ज राकेश कुमार पाण्डेय को चोरी की 15 मोटर साइकिले बरामद करने, एक हत्याभियुक्त के दोनाली बंदूक सहित गिरफ्तार करने पर यूपी 100 के हेड कांस्टेबिल को पुरस्कृत किया। योगेन्द्रसिंह परमान ने शहर के कटरा मोहल्ले में दो तमंचे लेकर अमित पाण्डेय नामक हमलावर एक व्यक्ति पर हमला करना चाहता था। जिसके समय रहते दबोचा लिया। कोतवाली बांदा में तैनात दरोगा सुश्री शालिनी भदौरिया ने गुम हुए बच्चे को बरामद किया। कोतवाली नगर के आरक्षी दिलीप कुमार ने अनैतिक देह व्यापार में लिप्त 20 हजार के इनामी अपराधी महेश यादव निवासी विकलांग विद्यालय सिविल लाइन को गिरफ्तार किया। इसी तरह मटौंध थानाध्यक्ष शशि कुमार पाण्डेय चोरी की नौ मोटर साइकिल बरामद कर अभियुक्त को गिरफ्तार किया। कोतवाली प्रभारी श्री निवास यादव ने 20 हजार रूप्ये के इनामी अभियुक्त रईस 15 हजार इनामी जग्गा उर्फ फैय्याज को गिरफ्तार किया।

इसी तरह क्राइम ब्रांच के इंसपेक्टर नीरज यादव 10 हजार के इनामी बदमाश संजय तिवारी निवासी ग्राम जरर थाना गिरवां में गिरफ्तार किया। थाना मटौंध की महिला आरक्षी निकिता सैनी कूड़े के ढेर से बच्चे को बरामद कर दो दिन तक उसकी देखभाल की जिससे बच्चे की जान बच सकी।

कोतवाली नगर बांदा के उप निरीक्षक देवेन्द्र कुमार मिश्र सन् 2016 में ट्रक चालक विष्णुदत्त के साथ मारपीट कर लूटपाट की घटना हुई थी जिसमंे चालक की मौत हो गयी जिसमें छानबीन के बाद हत्यारे क्लीनर जोगेन्द्र सिंह को गिरफ्तार किया गया।

इसी तरह डीजीपी ने 13 मेधावी बच्चों को सम्मानित किया। हाईस्कूल व इंटरमीडिएट के बच्चों में शिवांगी यादव, संदीप राजपूत, आशुतोष कुमार वर्मा, प्रतीक्षा यादव, मो.फैजान खान, आयशा परवीन, प्रशांत सिंह सेंगर, शिवानी, सत्यम् पाण्डेय, अजय विक्रम गौतम, विषम परिहार, सतेन्द्र यादव शामिल रहे।

About the Reporter

अन्य खबर

चर्चित खबरें