< ईश्वर हैै पर सवाल खड़े करना आसान है Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News ईश्वर के अस्तित्व पर सवाल खड़े करना आसान है। अक्सर लोग कहते मि"/>

ईश्वर हैै पर सवाल खड़े करना आसान है

ईश्वर के अस्तित्व पर सवाल खड़े करना आसान है। अक्सर लोग कहते मिलते हैं कि ईश्वर जैसी कोई शक्ति नहीं है। सच भी है शक्ति तो आन और आफ की तरह होती है। बटन आन - बल्ब आन , बटन आफ - बल्ब आफ। अंधकार से प्रकाश में और प्रकाश से अंधकार में जैसा कुछ तुरत-फुरत हो तो ईश्वरीय शक्ति का एहसास हो और माना भी जाए। उनकी गलती नहीं है , जो सवाल करते हैं ! 

सामान्य मनुष्य करे भी क्या ? वो कैसे विश्वास करे ? ईश्वर को भी अपना अस्तित्व जताने के लिए " आन - आफ " सी व्यवस्था रखनी चाहिए थी। या फिर मुरादें झट से जादूगर की तरह पूरी करनी चाहिए। क्या देखता नहीं वो ईश्वर कि यहाँ पृथ्वी में ऐसे-ऐसे मनुष्य हैं जो लोगों को सामने बिठाकर स्टैचू आफ लिबर्टी को गायब कर देते हैं और आदमी को आसमान में उड़ा देते हैं। लड़की को मध्यभाग से काट डालते हैं फिर जिंदा कर देते हैं। समोसे भी जादू से हाजिर कर देते हैं।

एक जादूगर नजरों के सामने अनेक चमत्कार करता है और लोग उसे जादूगर मानते हैं , पर ईश्वर क्या करते हैं ? लोग मत्था टेकते हैं फिर भी मन की मांगी मुराद नहीं पूरी होती। इंसान जो कुछ भी मांगता है , उसे सब सही लगता है परंतु ईश्वरीय शक्ति तो जानती है कि इसके लिए क्या सही है ? बेशक तमाम दुख - दर्द आते जीवन में , कष्ट उन्हीं से मिलता जिनसे सुख की उम्मीद सबसे अधिक होती। जिंदगी से वही छिन जाता , जिससे अपार सुख महसूस होता। वैसे ही जैसे मई - जून की गर्मी में हल्की सी छांव मिली और सुख महसूस होते ही पल भर में तेज धूप से माथा जलने लगता है। यही जिंदगी है और जीवन में जब दुख - दर्द होता तो ईश्वर के अस्तित्व पर सवाल खड़े होते हैं। 

फिर भी हम जिंदगी को महसूस करें तो समय के चलते दुख में सुख महसूस होने लगता है। कुछ पूरा ना होकर भी अधूरेपन में अच्छा लगने लगता है। असल में ईश्वर वही देते हैं , जो हमारे हित में होता है। इसलिये ईश्वर से कुछ भी मांगना व्यर्थ हो जाता है।

जिंदगी में कर्म करना आवश्यक है। स्वविवेक का प्रयोग करना आवश्यक है। हमारा स्वविवेक भी ईश्वर का अंश है। रिश्ते में हो या जीवन के किसी भी सफर में इत्तेफाकन जिंदगी में बदलाव ईश्वरीय शक्ति से होता है , कोई जीवन में आकर जिंदगी बदल देता है। जब भी ऐसा होता है तब - तब जादूगर के नजरबंद जादू से ज्यादा वास्तविक ईश्वरीय कृपा होती है और यही ईश्वर का अस्तित्व है , जिसे अपनी जिंदगी में महसूस किया जा सकता है। शेष दुख - दर्द धूप - छांव है परंतु ईश्वर है।

About the Reporter

अन्य खबर

चर्चित खबरें