< सृष्टि में सबसे पहले भगवान नारायण की नाभि कमल से ब्रह्माजी की उत्पत्ति हुई Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News महाराजपुर स्थित संगमघाट स्थित टीन शेड मैं साप्ताहिक श्रीमद् भा"/>

सृष्टि में सबसे पहले भगवान नारायण की नाभि कमल से ब्रह्माजी की उत्पत्ति हुई

महाराजपुर स्थित संगमघाट स्थित टीन शेड मैं साप्ताहिक श्रीमद् भागवत कथा का आयोजन किया जा रहा है। रविवार को कथा वाचक हेमंत दुबे ने भक्तों को बताया कि जब सुखदेव महाराज कथा सुनाने आए तो हजारों उम्र वाले संतों ने सुखदेव महाराज को प्रणाम किया। राजा परीक्षित आश्चर्य चकित हो गए। 16 वर्ष की अवस्था इस बालक की है, और हजारों वर्ष वाले संत महात्मा इन्हें प्रणाम कर रहे हैं। तो तुरंत ही राजा परीक्षित ने सुखदेव के चरणों की वंदना और पंचोपचार और षोडशोपचार द्वारा पूजन एवं वंदन किया। सुखदेव महाराज से पूछा कि धर्म प्राणियों को क्या करना चाहिए तो सुखदेव महाराज कहते हैं, परीक्षित तुम्हारा प्रश्न सार्वभौम है। इसका उजाला तुम्हारे माध्यम से इस जगत में फैलेगा और साथ ही सृष्टि प्रक्रिया के बारे में बतलाते हुए इस सृष्टि में सबसे पहले भगवान नारायण के नाभि कमल से ब्रह्मा जी की उत्पत्ति हुई। एक दिन ब्रह्मा जी सृष्टि करने की इच्छा हुई तो उन्होंने सबसे पहले चार कुमारों को जन्म दिया।

About the Reporter

अन्य खबर

चर्चित खबरें