< फीफा विश्व कप: पांचवीं बार खिताब जीतने उतरेगी मौजूदा चैम्पियन जर्मनी Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News मौजूदा चैम्पियन जर्मनी की टीम गुरुवार से रुस में शुरु हो रहे हो "/>

फीफा विश्व कप: पांचवीं बार खिताब जीतने उतरेगी मौजूदा चैम्पियन जर्मनी

मौजूदा चैम्पियन जर्मनी की टीम गुरुवार से रुस में शुरु हो रहे हो रहे फीफा विश्व कप फुटबॉल खिताब को पांचवीं बार जीतने के इरादे से उतरेगी।  जर्मन टीम ने पहले भी 4 बार यह खिताब जीता है। इसके अलावा वह चार बार फाइनल तक पहुंचकर उपविजेता रही है। विश्व कप के लिए जर्मनी को मेक्सिको, स्वीडन एवं दक्षिण कोरिया के साथ ग्रुप-एफ में रखा गया और टीम अपना पहला मैच 17 जून को मेक्सिको के खिलाफ खेलेगी। हाल में हुए क्वालीफाइंग मुकाबलों में अजेय रही जर्मनी अपने विजय अभियान को जारी रखने के इरादे से उतरेगी।

जर्मनी ने टूर्नमेंट में पहले बार 1934 में हिस्सा लिया था पर टीम खिताब नहीं जीत पाई। स्विट्जरलैंड में हुए 1954 विश्व कप पश्चिम जर्मनी ने फाइनल मुकाबले में सबसे मजबूत टीम हंगरी को 3-2 से हराकर पहली बार खिताब अपने नाम किया। 1966 में इंग्लैंड में हुए विश्व कप में कप्तान फ्रांज बेकनबॉयर के नेतृत्व में टीम फाइनल तक पहुंची हालांकि, जर्मनी खिताब नहीं जीत पाई और फाइनल मुकाबले में मेजबान इंग्लैंड ने उन्हें 4-2 से हराया। पश्चिम जर्मनी को दोबारा विश्व कप जीतने का सपना 1974 में सच हुआ। अपनी धरती पर खेलते हुए पश्चिम जर्मनी ने टूर्नमेंट में बड़ी टीमों को शिकस्त दी पर मेजबान टीम को एक रोमांचक मुकाबले में टूर्नामें में पहली बार हिस्सा ले रही पूर्व जर्मनी के खिलाफ 0-1 से हार झेलनी पड़ी। पश्चिम जर्मनी समय रहते इस हार से उबरी और फाइनल मुकाबले में नीदरलैंड को 2-1 से हराकर खिताबी जीत दर्ज की। पश्चिम जर्मनी की फुटबॉल टीम 80 के दशक में भी दो बार विश्व कप में उपविजेता रही। 1990 में हुए विश्व कप में उसने तीसरी बार खिताब जीता। टीम पूरे टूर्नमेंट में एक भी मैच नहीं हारी और फाइनल मुकाबले में अर्जेंटीना को 1-0 से हराया। इटली में 1990 विश्व कप के बाद से अगले सभी विश्व कप में पूर्व एवं पश्चिम जर्मनी ने एक टीम के रूप में हिस्सा लिया हालांकि, जर्मनी को चौथा खिताब जीतने में दो दशक से ज्यादा लग गये।

पिछले विश्व कप की तरह इस बार भी जर्मनी की टीम सितारों से भरी हुई है और खिताब जीतने की प्रबल दावेदार है। विश्व कप के रूस में होने से भी जर्मनी को लाभ होगा। टीम के पास कई सारे ऐसे खिलाड़ी है जिन्हें विश्व कप जैसे बड़े टूर्नामेंट में खेलने का अनुभव है और वे अभी भी विश्व के शीर्ष फुटबॉल खिलाड़ियों में गिने जाते हैं। जर्मनी के तीनों गोलकीपर मैनुअल नॉयर, माके आंद्रे टेर स्टेगन एवं केविन ट्रैप काफी बेहतर हैं और विपक्षी टीमों के लिए गोल करना आसान नहीं होगा। जर्मनी की रक्षापंक्ति भी बेहद मजबूत है, जेरोम बाआटेंग और मैट्स हुमल्स के अलावा जोशुआ किमिच एवं एंटोनियो रुडिगेर पर सबकी निगाहें रहेंगी। मिडफील्ड में इके गुंडोगन, सामी खेदीरा, टोनी क्रूस एवं मेसुट ओजिल का अनुभव जर्मनी के लिए लाभकारी रहेगा उसके पास थॉमस मुलर और टीमो वॉर्नर जैसे स्टार खिलाड़ी हैं। चिंता का विषय होगी। फीफा विश्व के क्वॉलीफाइंग दौर में जर्मनी ने अपने सभी मैचों में जीत दर्ज की है।

About the Reporter

अन्य खबर

चर्चित खबरें

Your Page has been visited    Times