< ज्योतिष विधा से जाने शादी कहां होगी, जन्म लग्न कुंडली Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News कहते हैं जोड़ियां ऊपर से बनकर आती हैं पर फिर भी विवाह को लेकर हर क"/>

ज्योतिष विधा से जाने शादी कहां होगी, जन्म लग्न कुंडली

कहते हैं जोड़ियां ऊपर से बनकर आती हैं पर फिर भी विवाह को लेकर हर किसी में यह जानने की बेसब्री होती है कि उसकी शादी कहां, किससे और घर से कितनी दूर होगी, घर गांव में होगा या शहर में। ऐसी छोटी-छोटी इच्छाएं हर किसी के मन उठती हैं। ज्योतिष विधा के जरिये इसकी जानकारी मिल सकती है।

आसपास होगा विवाह

ज्योतिष विधा के अनुसार, आपकी कुंडली के सप्तम भाग में यदि वृष, सिंह वृश्चिक और कुंभ राशि स्थित है तो ऐसे में लड़की की शादी उसके घर से 90 किमी के अंदर ही होगी। अगर सप्तम भाग में चंद्र, शुक्र तथा गुरू हों तो ऐसे में लड़की की शादी घर के आसपास ही होती है।

दूरी पर होगा विवाह 

अगर कुंडली के सप्तम भाग में मेष, कर्क, तुला और मकर हैं तो आपका विवाह उसके जन्मस्थान से 200 किमी के अंदर होगा। वहीं अगर द्विस्वभाव राशि मिथुन, कन्या, धनु या फिर मीन राशि स्थित हो तो विवाह घर से 80 से 100 किमी की दूरी पर हो जाता है।

विदेश में संभावना

अगर आपकी कुंडली में सप्तम भाग से द्वादश भाव के मध्य हो तो आपका विवाह विदेश में होगा। या फिर लड़का शादी के बाद आपको विदेश ले जाएगा। वहीं लड़की की कुंडली में दसवां भाव उसके पति का भाव होता है। दशम भाव अगर शुभ ग्रहों से युक्त या दृष्ट हो या दशमेश से युक्त या दृष्ट हो तो पति का अपना मकान होता है।

कब होगी शादी? 

यदि लड़का-लड़की की जन्म लग्न कुंडली में सप्तम भाव में सप्तमेश बुध हो, हालांकि वह पाप ग्रह से प्रभावित ना हो तो ऐसे में विवाह 13 से 18 साल की आयु में हो जाता है। वहीं अगर सप्तम भाग में सप्तमेश मंगल पापी ग्रह से प्रभावित हो तो शादी 18 साल की आयु में होती है।

देर में होती है शादी 

बुध शीघ्र ही शादी करवाता है, अगर आपकी कुंडली के सातवें घर में बुध हो तो आपकी शादी का योग 20 से 25 साल की उम्र में बन जाता है। यदि राहु या शनि का प्रभाव हो तो दो साल की देर यानी 27 साल की उम्र में शादी होती है।

इनका विवाह नहीं होता आसानी से 

मंगल, राहु केतु में से कोई एक यदि सातवें घर में हो तो शादी में काफी देर हो सकती है। जितने अशुभ ग्रह सातवें घर में होंगे शादी में देर उतनी ही अधिक होती है। मंगल कुंडली के सातवें घर में 27 साल की उम्र से पहले शादी नहीं होने देता। वहीं राहु यहां होने पर विवाह आसानी से नहीं होने देता। कई बार तो बात पक्की होने के बावजूद रिश्ते टूट जाते हैं। केतु सातवें घर में होने पर गुप्त शत्रुओं की वजह से शादी में अडचनें पैदा करता है।

About the Reporter

अन्य खबर

चर्चित खबरें