< छेत्री ने 100वें मैच में 2 गोल कर भारत को दिलाई जीत Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News 100 अंतरराष्ट्रीय मैच खेलने वाले दूसरे भारतीय बने

छेत्री ने 100वें मैच में 2 गोल कर भारत को दिलाई जीत

100 अंतरराष्ट्रीय मैच खेलने वाले दूसरे भारतीय बने

भारतीय फुटबॉल टीम के कप्तान सुनील छेत्री ने अपने 100वें अंतरराष्ट्रीय मैच में दो गोल कर भारत को इंटरकांटिनेंटल कप फुटबॉल टूर्नामेंट में केन्या पर 3-0 से शानदार जीत दिलाई है। इसी के साथ भारतीय टीम फाइनल में भी पहुंच गयी है। पूर्व कप्तान बाईचुंग भूटिया के बाद 100 अंतरराष्ट्रीय मैच खेलने वाले छेत्री सिर्फ दूसरे भारतीय हैं। (68वें मिनट और 90 प्लस एक मिनट) के अलावा जेजे लालपेखलुआ ने 71वें मिनट में टीम की ओर से एक अन्य गोल किया। भारत की टीम इस जीत से दो मैचों में दो जीत से छह अंक के साथ नंबर एक पर पहुंच गयी है। वहीं केन्या के दो मैचों में एक हार और एक जीत से तीन अंक है और वह दूसरे स्थान पर पहुंच गयी है।  छेत्री ने मैच से पहले लोगों से भारत के फुटबाल मैच के लिए स्टेडियम में पहुंचने की भावुक अपील की थी जिससे के बाद मुंबई फुटबॉल एरेना का स्टेडियम दर्शकों से खचाखचा भरा था। मैच की शुरुआत तेज बारिश के बीच हुई और दोनों ही टीमों के खिलाड़ियों को परेशानी का सामना करना पड़ा।

भारत की ओर से सातवें मिनट में उदांता सिंह ने गोल का प्रयास किया पर केन्याई गोलकीपर पैट्रिक मतासी ने उसे विफल कर दिया। भारत को 14वें मिनट में फ्री किक मिली पर टीम लाभ नहीं उठा पाई। भारत को गोल करने का पहला बड़ा मौका 22वें मिनट में मिला जब मैदान पर पानी भरा होने के कारण केन्या के डिफेंडरों से गलती हो गई और गेंद सीधे भारतीय कप्तान छेत्री के पास पहुंची पर उनका शॉट गोल के बाहर चला गया। केन्या ने 25वें मिनट में हमला किया पर भारतीय गोलकीपर गुरप्रीत सिंह संधू ने उसे नाकाम कर दिया। दोनों टीमों के खिलाड़ियों को मैदान पर काफी पानी जमा होने के कारण पासिंग में काफी परेशानी हो रही थी और कई अच्छे मूव बनाने के बावजूद कोई भी टीम मध्यांतर तक गोल नहीं कर पा रही थी।  दूसरे हाफ में केन्या ने तेज शुरुआती की और उसके खिलाड़ी ओवेला ओचींग ने किक लगाई पर उनका प्रयास नाकाम रहा।

केन्या के माइकल किबवागे ने इसके बाद फाउल किया जिससे भारत को 68वें मिनट में पेनल्टी किक मिली और कप्तान छेत्री ने इसे गोल में बदलकर भारतीय टीम को 1-0 की बढ़त दिला दी। यह छेत्री का 60वां अंतरराष्ट्रीय गोल था। तीन मिनट बाद नार्जरी ने एक और मूव बनाया और इस बार उनका शाट बाक्स के अंदर केन्या के डिफेंडर से टकराकर जेजे लालपेखलुआ के पास पहुंचा जिन्होंने इसे गोल में बदलने में कोई गलती नहीं की। इस प्रकार भारतीय टीम की बढ़त 2-0 हो गयी।छेत्री ने इसके बाद इंजरी टाइम के पहले मिनट में एक और गोल दागकर भारत को 3-0 की जीत दिला दी। भारतीय टीम का सामना अब अपने तीसरे और अंतिम राउंड रोबिन मैच में सात जून को न्यूजीलैंड से होगा।

About the Reporter

अन्य खबर

चर्चित खबरें