< सर्दी- बुखार में एस्प्रिन लेना ठीक नहीं Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News दिल के रोगों का खतरा बढ जाता है ज्यादा

सर्दी- बुखार में एस्प्रिन लेना ठीक नहीं

दिल के रोगों का खतरा बढ जाता है ज्यादा

सर्दी-बुखार में ज्यादातर लोग एस्प्रिन लेते हैं, पर लोग ये भी कहते हैं कि एस्प्रिन लेना ठीक नहीं। अब ये बात साबित भी हो चुकी है। अमेरिकन कॉलेज ऑफ कार्डियॉलॉजी की पिनाकल रजिस्ट्री में प्रकाशित एएफ के मरीजों के नए मूल्यांकन के मुताबिक, लगभग 40 फीसदी मरीजों को मुंह से लेने वाले एंटी-कोगुलेंट्स की बजाय केवल एस्प्रिन दी गई। कई तरह के बदलाव करने के बाद देखा गया कि जिन मरीजों को एस्प्रिन दी गई है, उनमें दिल के रोगों का खतरा उन लोगों की तुलना में ज्यादा है, जिन्हें मुंह से लेने वाले एंटी-कोगुलेंट्स दी गई। एस्प्रिन देने से थ्रोम्बियोम्लिजम को रोकने में कोई मदद नहीं मिलती। इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) के हार्ट केयर फाउंडेशन ऑफ इंडिया के अध्यक्ष के मुताबिक, इस बात के काफी प्रमाण मिल चुके हैं कि एस्प्रिन एंटी-कोगुलेंट्स नहीं है। यह एएफ से होने वाले स्ट्रोक को रोकने में मदद नहीं करती। अमेरिकन कॉलेज ऑफ कार्डियॉलॉजी व अमेरिकन हार्ट एसोसिएशन स्ट्रोक के कम खतरे वाले मरीजों को एस्प्रिन देने से मना किया है। आईएमए ने अपने ढाई लाख डॉक्टर सदस्यों को इस बारे में जानकारी दी कि आर्टियल फिब्रीलेशन के मरीज, जिन्हें दिल के दौरे का कम खतरा होता है, उन्हें एस्प्रिन न दी जाए।

About the Reporter

अन्य खबर

चर्चित खबरें