< ट्राइक्लोसन तत्व फेफड़ों की गंभीर बीमारी से लड़ने में है सहायक Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News ट्राइक्लोसन तत्व जीवाणु को रोकता है बढ़ने से

ट्राइक्लोसन तत्व फेफड़ों की गंभीर बीमारी से लड़ने में है सहायक

ट्राइक्लोसन तत्व जीवाणु को रोकता है बढ़ने से

एक शोथ में यह सामने आया है कि टूथपेस्ट में पाया जाने वाला एक सामान्य ऐंटीबैक्टीरियल तत्व अगर दवा के साथ मिल जाए तो यह सिस्टिक फाइब्रोसिस जैसी खतरनाक बीमारियों से लड़ सकता है। शोध में पाया गया कि ट्राइक्लोसन जब एक जैव प्रतिरोधी से मिल जाता है तो इसे टोब्रामाइसिन कहा जाता है। ट्राइक्लोसन एक तत्व है, जो जीवाणु को बढ़ने से रोकता या घटाता है। टोब्रामाइसिन सिस्टिक फाइब्रोसिस बैक्टीरिया की रक्षा करने वाली कोशिकाओं को 99।9 फीसदी तक मारता है। सिस्टिक फाइब्रोसिस  बैक्टीरिया को स्यूडोमोनानास एरुजिनोसा के नाम से जानते हैं। सीएफ एक आम आनुवांशिक बीमारी है जो हर 2 हजार 500 से 3 हजार 500 लोगों में से किसी 1 को होती है। इसकी पहचान शुरुआती स्टेज में हो जाती है और इसके परिणामस्वरूप फेफड़ों में म्यूकस की एक मोटी परत बन जाती है, जो बैक्टीरिया के लिए चुंबक का काम करता है।

मिशिगनन स्टेट यूनिवर्सिटी के प्रफेसर क्रिस वाटर्स ने कहा, ‘इन बॉयोफिल्म को खत्म करने के तरीकों को खोजना ही समस्या का निदान है।’शोधकर्ताओं का कहना है कि इन जीवाणुओं को मारना बेहद मुश्किल है, क्योंकि ये एक चिपचिपी सतह के जरिए संरक्षित होते हैं, जिसे बायोफिल्म नाम से जानते हैं, जो ऐंटीबायॉटिक दवाओं से इलाज के दौरान भी बीमारी को बढ़ने देता है।

About the Reporter

अन्य खबर

चर्चित खबरें