< पूजा के हर कार्य में चन्दन का होता है उपयोग Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News हिन्दू धर्म में चन्दन को अत्यंत पवित्र माना जाता है। चन्दन एक खा"/>

पूजा के हर कार्य में चन्दन का होता है उपयोग

हिन्दू धर्म में चन्दन को अत्यंत पवित्र माना जाता है। चन्दन एक खास तरह की सुगन्धित पेड़ होता है। इसकी सुगंध बेमिसाल होती है। जैसे-जैसे इसका पौधा बढ़ता है, वैसे ही इसके तने और जड़ों में सुगन्धित तेल का अंश भी बढ़ने लगता है। इसकी लकड़ी का उपयोग मूर्तिकला, साज-सज्जा के सामान, सुगन्धित पदार्थ आदि बनाने में होता है। मुख्यतः चन्दन दो प्रकार का होता है- लाल और सफेद, दोनों का ही प्रयोग किया जाता है।

चन्दन का धार्मिक महत्व

पूजा के हर कार्य में चन्दन की लकड़ी, चन्दन का लेप और चन्दन के इत्र का प्रयोग किया जाता है। शिवलिंग का अभिषेक भी चन्दन से करने की परंपरा पाई जाती है। श्री हरि और उनके अवतारों के लिए सफेद चन्दन का लेपन अत्यंत महत्वपूर्ण माना जाता है। देवी की उपासना में लाल चन्दन का प्रयोग होता है। ज्योतिष में ग्रहों की समस्या के समाधान के लिए भी चन्दन का प्रयोग किया जाता है। तिलक लगाने में चन्दन का किस तरह प्रयोग इस प्रकार करें। चन्दन की लकड़ी को पत्थर पर घिस लें। पहले अपने इष्ट को अनामिका अंगुली से तिलक लगाएं। फिर स्वयं को मस्तक, कंठ और नाभि पर तिलक करें। देवी की उपासना में लाल और अन्य में सफेद चन्दन का प्रयोग करें। मानसिक शान्ति, एकाग्रता और मानसिक रोगों से रक्षा के लिए चन्दन का प्रयोग होता है। चन्दन का इत्र लें। रोज प्रातः स्नान के बाद दोनों हाथों की कलाइयों पर लगाएं। ह्रदय के बीचों बीच भी लगाएं। रोज पूजा के समय चन्दन की सुगंध वाली धूप बत्ती जलाएं। चन्दन का एक छोटा सा टुकड़ा ले लें। इसे नीले कपडे में रखकर लाकेट की तरह बना लें। शनिवार की शाम को इसे लाल धागे में गले में धारण करें।

About the Reporter

अन्य खबर

चर्चित खबरें