< वीरेंद्र सहवाग संग मिलिये बल्लेबाजी के बाहुबली से Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News वीरेंद्र सहवाग ने बेंगलुरु के खिलाफ मैच से एक दिन पहले मंजूर से "/>

वीरेंद्र सहवाग संग मिलिये बल्लेबाजी के बाहुबली से

वीरेंद्र सहवाग ने बेंगलुरु के खिलाफ मैच से एक दिन पहले मंजूर से सभी को मिलवाया है। भारत के उत्तरी छोर के अंतिम हिस्से मे रहने वाले मंजूर के लिए क्रिकेट कभी आसान नही था। जम्मू कश्मीर के सर्वश्रेष्ठ क्रिकेटर परवेज रसूल और मध्यम गति के गेंदबाज उमर नजीर आईपीएल नीलामी मे नही बिक सके, जबकि बल्लेबाज मंजूर अहमद डार को पहली बार इंडियन प्रीमियर लीग मे प्रवेश मिला, जिन्हे पंजाब ने 20 लाख रुपए मे खरीदा है। मंजूर डार अब पंजाब का हिस्सा है। मंजूर अहमद डार को कश्मीर में पांडव के नाम से बुलाया जाता है। 24 साल के मंजूर अहमद डार कश्मीर के है और केवल क्रिकेटर ही नही है। मंजूर एक वेटलिफ्टर, एक कबड्डी खिलाड़ी, कलाकार (लकड़ी से सामान बनाना) और सिक्युरिटी गार्ड भी है। मंजूर का नाम क्रिकेट मे 100 मीटर सिक्सरमैन के नाम से काफी धमाल मचा चुका है। मंजूर के कोच का कहना है कि वह काफी टैलेंटेड है और खूब लंबे-लंबे छक्के मारता है।

अब पंजाब के मेंटर वीरेंद्र सहवाग ने मंजूर का एक वीडियो शेयर किया है। सहवाग ने मंजूर का परिचय करवाते हुए उन्हे बल्लेबाजी का बाहुबली बताया है। अतीत की खिड़कियो से झांकते हुए मंजूर याद करते है, क्रिकेट की पहली याद उस वक्त की है जब मै सिर्फ तीन साल का था। जहां मै रहता था वहां किसी को क्रिकेट का ज्ञान नही था। मै रेडियो पर कमेंटरी सुना करता था। बाद मे काम पर जाते समय भी मै रेडियो अपने पास रखता। उस समय हम टीवी देखना अफोर्ड नही कर सकते थे।

क्रिकेट का यह जुनून ही था जिसने मंजूर के भीतर क्रिकेट को जीवित रखा। उनका यह सपना था कि वह कभी राष्ट्रीय क्रिकेट टीम को देखे। वह अपनी पसंदीदा क्रिकेट टीम को खेलते हुए देखना चाहते थे। जब उम्र बढ़ने लगी तो मंजूर भारतीय टीम के मैच देखने के लिए पहुंच जाते। टी-20 वर्ल्ड कप का फाइनल मैच था। मै उस मैच को देखने के लिए वह दूसरे गांव मे गए क्योंकि उनके यहां बिजली नही थी। उन कठिन परिस्थितियो से निकल कर मंजूर डार ने क्रिकेट का अब तक सफर तय किया है। वह बताते है, जब पंजाब ने आगामी इंडियन प्रीमियर लीग के लिए मुझे चुना तो यह मेरे जीवन का सबसे खुशी का दिन था।

About the Reporter

अन्य खबर

चर्चित खबरें