< आपके टिकट पर आपके घर वाले या अन्य कोई और भी कर सकता है यात्रा Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News हम अक्सर रेल यात्रा करते रहते है लेकिन फिर भी हम रेलवे के बहुत से "/>

आपके टिकट पर आपके घर वाले या अन्य कोई और भी कर सकता है यात्रा

हम अक्सर रेल यात्रा करते रहते है लेकिन फिर भी हम रेलवे के बहुत से नियमों से अनजान रहते है। हम अपनी यात्रा के लिए कई बार रिजर्वेशन कराते है लेकिन अचानक कई बार तैयारी कैसिंल हो जाती है। हमे अपने स्थान पर किसी और को या घर के ही किसी सदस्य को भेजना पड़ता है। लेकिन ऐसे में हमे उनके रिजर्वेशन की चिंता रहती है। क्योंकि एनवक्त पर तो रिजर्वेशन हो नही सकता। येसे समय में हमे असुविधा जनक यात्रा करनी पड़ती है।

लेकिन क्या आप जानते है, कि रेलवे हमे टिकट ट्रांसफर करने की सुविधा प्रदान करता है। यदि कोई यात्री किसी कारण से सफर नहीं कर पा रहा है तो वो 24 घंटे पहले इसकी लिखित सूचना चीफ रिजर्वेशन सुपरवाइजर को दे देता है तो उसका रिजर्वेशन किसी दूसरे व्यक्ति (जैसे पिता, भाई-बहन, बच्चे, पत्नी) को ट्रांसफर किया जा सकता है। हालांकि टिकट ट्रांसफर कुछ विशेष परिस्थितियों में होता है।

यदि पैसेंजर गवर्नमेंट सर्वेंट है, और किसी कारण से सफर नहीं कर पा रहा तो ट्रेन के शेड्यूल्ड डिपार्चर के 24 घंटे पहले इसकी लिखित सूचना दे सकता है। और अपना टिकट किसी अन्य व्यक्ति के नाम पर ट्रांसफर कर सकता है। 

जिस पैसेंजर के नाम से रिजर्वेशन है अगर वह यात्रा नही कर रहा है तो वे अपनी फैमिली मेम्बर्स पिता, माता, भाई-बहन, बेटा-बेटी, पति, पत्नी के नाम टिकट ट्रांसफर करवा सकता है। इसके लिए भी लिखित सूचना 24 घंटे पहले देना अनिवार्य है।

इतना ही अगर कोई पैसेंजर किसी इंस्टीट्यूट का स्टूडेंट हैं और इंस्टीटयूट किसी अन्य छात्र को भेजना चाहती है तो संबंधित इंस्टीट्यूट का हेड 24 घंटे पहले लिखित आवेदन देता है इस स्थिति में इंस्टीट्यूट के ही किसी दूसरे स्टूडेंट के नाम टिकट ट्रांसफर की जा सकती है। साथ ही एनसीसी कैडेट ग्रुप का हेड यदि 24 घंटे पहले लिखित आवेदन देता है तो दूसरे कैडेट के नाम टिकट ट्रांसफर की जा सकती है।

About the Reporter

अन्य खबर

चर्चित खबरें