< आईपीएल मैचों पर पुलिस की रहेगी तीक्ष्ण नजरें Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News अप्रेल माह प्रारम्भ होते ही जिले भर के सटोरिये सक्रि"/>

आईपीएल मैचों पर पुलिस की रहेगी तीक्ष्ण नजरें

अप्रेल माह प्रारम्भ होते ही जिले भर के सटोरिये सक्रिय हो गये है। अपेल माह में आयोजित होने वाली इंडियन प्रीमियर लीग उर्फ आईपीएल में मुख्यालय में ही करीब एक दर्जन से अधिक स्थानों पर सट्टे का कारोबार प्रारम्भ हो जाता है। जिसके लिये सटोरिये करीब दो सप्ताह पहले से ही अपने खिलाडियों से सम्पर्क साधना आरम्भ कर देते है। प्रत्येक वर्ष यह सटोरियों लोगों की खून पसीने की गाढी कमाई को सट्टे के काले कारोबार में खपा देते है। इसके फेर में पडकर न जाने कितने लोग बेघर हो गये और न जाने कितने घर वार बेच कर अन्य प्रान्तों में पलायन कर गये। 

गौरतलब है कि मुख्यालय में सट्टे का कारोबार एक महामारी का रुप धारण कर चुका है। बैसे तो यहां प्रत्येक मैच में दांव लगाये जाते है परन्तु आईपीएल शुरू होते जिले भर के सटोरिये सक्रिय हो जाते है। वही मुख्यालय में ही करीब दो दर्जन से अधिक स्थानों पर आईपीएल मैच में सट्टा लगवाया जाता है। आईपीएल शुय होने के करीब एक पखवारे पहले से सटोरियों के गुर्गे सक्रिय हो जाते है और अपने नये नम्बर बांटना शुरू कर देते है। यह नम्बर फर्जी होते है जिससे इन्हे टेस कर पाना पुलिस के लिये भी मुश्किल होता है। क्योकि यह नम्बर मैच शुरू होते ही सक्रिय होते है और मैच समाप्त होने के बाद बन्द हो जाते है। आईपीएल मैच में मुख्यालय में ही प्रतिदिन करीब 50 करोड से अधिक का सट्टा का लेन देन होता हैं जिसमें सटोरियों को दस प्रतिशत की कमाई होती है। उएपभोक्ता हारे या जीते इससे सटोरियों की कमाई पर कोई प्रभाव नही पडता है वह तो केवल टर्न ओवर के हिसाव से कमीशन तय होता है। जिस कारण यहां के सटोरिये प्रतिदिन लाखों की कमाई करते है। यहां सट्टा का व्यापार करने वाले कई लोग लखपति बन गये है और कई लखपति रोडपति बन चुके है। 

जिले में इस समय अवैध कारोबार पर पूरी तरह रोक लगी हुई है। इमनदार छबि वाले पुलिस अधीक्षक एन कोलांची का नाम सुन अराजक तत्व व गैर कानूनी कार्य करने वाले अपराधी अपना धन्धा बन्द कर देते है। परन्तु एसपी साहब क्या यहां कई वर्षो से सत्ता की हनक में होने वाले सट्टा के व्यापार पर लगाम लगा सकेगे। क्योकि इस गोरखधन्धे के लोग चाहे कोई भी सरकार क्यों न हो वहां अपनी सांठ गांठ कर धन्धा करते है। फिलहाल योगी सरकार में गलत कार्य करने वालों को पुलिस किसी भी कीमत पर छोड नही रही है फिर चाहे वह कोई भी क्यो न हो।

गोपनीय सूत्रों की माने तो पुलिस अधीक्षक एन कोलांची को भी इस गोरखधन्धे की जानकारी हो चुकी है और वह अपनी रणनीति बना इन सटोरियों को पकड उनके अंजाम तक पहुंचाने का खाका भी तैयार कर चुकी हैं। इस बार एसपी ने इन सटोरियो से निपटने के लिये खाश रणनीति बनाई है और वह इस समय सूत्र एकत्र करने में लगे हुये है। इस बार जिले में सट्टे के व्यापार पर एसपी पूरी तरह से प्रतिबंध लगाने के मूढ में है। वही सटोरिये भी अपनी महफिले जमाने के लिये अभी से कमर कस चुके है। अब ईमानदार पुलिस अधीक्षक के समय में क्या सटोरिये अपनी महफिले जमा पायेगे यह तो आने वाला समय ही बतायेगा। 

About the Reporter

अन्य खबर

चर्चित खबरें