< 28 फरवरी 18 को जारी क्रेडिट कार्ड की 26 फरवरी 18 को समाप्त Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News बैक अधिकारियों और कर्मचारियों द्वारा बदहाल व वेवश कि"/>

28 फरवरी 18 को जारी क्रेडिट कार्ड की 26 फरवरी 18 को समाप्त

बैक अधिकारियों और कर्मचारियों द्वारा बदहाल व वेवश किसानों के जमकर धोखाधडी की जा रही हैं। बगरौन निवासी किसान की भूमि का किसान सेवा क्रेडिट कार्ड 28 फरवरी 2018 को जारी किया गया और उसकी वैद्यता एक दिन पहले 26 फरवरी 2018 की गई। जिसमें किसान द्वारा एक साल पहले 11 हजार रूपया भी निकाला दर्शाया गया है। वही किसान की भूमि बैंक द्वारा दो लाख 64 हजार रुपये में बंधक कर ली गई। जब किसान को जानकारी लगी तो वह बैक के चक्कर काटते हुये इधर उधर भटक रहा है।

गौरतलब है कि बुन्देले किसान कई वर्षो से सूखा, अतिवर्षा, ओलावृष्टि जैसी प्राकृतिक आपदाओं का दंश झेलता चला आ रहा है। विभिन्न सरकारों द्वारा किसानो को मामूली रकम देकर उनके घावों पर मरहम लगाने का तो प्यास किया परन्तु स्थाई समाधान निकालने का किसी भी सरकार ने प्रयास नही किया। शाायद बोट बैंक के लालच में सरकारे यह कार्य करना ही नही चाहती है। वह चाहती है कि उनका वोट बैंक किसान इसी प्रकार झोली फैलाकर सरकार की दया पर निर्भय रहे। बुन्देले किसानों का कभी सरकारों ने तो कभी सरकारी अफसरों लेखपाल तथा बैंक कर्मियों द्वारा लगातार शोशड किया गया। अभी गत दिन पहले बेलाताल क्षेत्र के किसानों से फर्जी साईन कराकर उनका खाता नम्बर लेकर बैंक कर्मियों द्वारा उनके खातो से पैसे निकाले गये। 

ऐसा ही वाकया चरखारी विकासखण्ड के ग्राम बगरौन निवासी किसान रामस्वरूप पुत्र मातादीन के साथ घटित हुआ। किसान रामस्वरूप ने इलाहाबाद बैंक चरखारी से किसान सेवा क्रेडिट कार्ड संख्या 02100772916 पर बनवाया था। बैक द्वारा बनाया गये क्रेडिट कार्ड को 28 फरवरी 2018 को जारी किया साथ ही उसकी वैद्यता तिथि 26 फरवरी 2018 यानि एक दिन पहले की रख दी।

बैक अधिकारियों द्वारा किसान की भूमि को दो लाख 64 हजार में बंधक बना लिया। इतना ही नही एक साल पहले किसान के खाते से 11000 का लोन की निकाल लिया गया। जब किसान को जानकारी हुई तो उसने बैंक अधिकारियों से मिलकर कागजाद दिखाये। इस पर बैंक अधिकारी गलती हो जाने की बात कह ठीक करा दिया जायेगा कहकर किसान को टरका दिया। किसान कई दिनों से बैंक के चक्कर काट रहा है परन्तु उसकी कोई भी सुनवाई नही हो रही है। बता देें कि बैंक कर्मचारी व अधिकारी भोलेभाले किसानों को बरगला कर उनकी रकम को हडपने का कार्य कर रहे है। ऐसे बैंक अधिकारियों के खिलाफ जब तक कडी कार्यवाही नही होगी यह गोरखधन्ध नही थम सकता। 
 

About the Reporter

अन्य खबर

चर्चित खबरें