< मंत्री जी चली गईं पर बैनर बोर्ड पर पटा है, सुविधा बनी असुविधा Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, Samachar - Bundelkhand News शासन सत्ता जिसकी होती शायद उसकी तूती बोलना इसे ही कहा जाता है। प"/>

मंत्री जी चली गईं पर बैनर बोर्ड पर पटा है, सुविधा बनी असुविधा

शासन सत्ता जिसकी होती शायद उसकी तूती बोलना इसे ही कहा जाता है। पिछले दिनों केन्द्रीय मंत्री अनुप्रिया पटेल चित्रकूट आई थीं। उनके स्वागत में अपना दल के नेताओं ने पोस्टर बैनर से पूरे शहर को पाट दिया। स्वागत की पोस्टर बैनर वाली परंपरा धन दोहन के सिवाय कुछ और नहीं परंतु राजनीति का यह रोग सरकारी नियमों की अनदेखी करता भी खूब देखा जा सकता है। 

गौरतलब है कि सपा शासन के दौरान जिला पंचायत अध्यक्ष शिवशंकर सिंह द्वारा भाजपा नेता राजीव तिवारी पर मुकदमा ऐसे ही मामले पर दर्ज कराया गया था। हालांकि वक्त चुनावी था तो चुनावी काम भी हो सकता था। इस बार यूपी में भाजपा की सरकार हैै और केन्द्र में अपना दल भाजपा का सहयोगी दल है। इसलिये यहाँ अपना दल की भी अप्रत्यक्ष रूप से भी खूब चलती है। कर्वी नगर के अंदर दो से तीन जगह सरकारी दीवाल हो या फिर जनता की सुविधा के लिए जानकारी हेतु लगाए गए साइनिंग बोर्ड हों, अपना दल ने स्वागत बैनर से सुविधा को असुविधा में बदल दिया है। 

तमाम अधिकारी आए दिन यहाँ से गुजरते हैं, बेशक नजर उनकी भी पड़ती होगी परंतु आम लोगों की तरह सत्ता की हनक में प्रशासनिक अधिकारी की नजर भी आम हो जाए तो अचरज की बात नहीं कही जा सकती। अलबत्ता ऐसे मामले प्रादेशिक और राष्ट्रीय स्तर पर हर जगह मिल जाते हैं। संज्ञान केे आधार प जन सुविधा के लिए ऐसी कार्रवाई भी नहीं की जाती है। यह अलग है कि ऐसी जुर्रत सत्ता वाली पार्टी के बाहुबली नेता व सामूहिक रूप से गैर जिम्मेदार कार्यकर्ता करते रहते हैं। 
इतने मात्र से समझा जा सकता है कि अधिकारी स्वयं से अपनेे अधिकारों का प्रयोग सत्तासीन नेताओं व पार्टी कार्यकर्ता पर नहीं कर पाते हैं।

About the Reporter

अन्य खबर

चर्चित खबरें