?> हरियाणा के सूरजकुण्ड मेले में गूॅज उठी आल्हा की तान बुन्देलखण्ड का No.1 न्यूज़ चैनल । बुन्देलखण्ड न्यूज़ रमेश पाल एण्ड पार्टी ने भी भांजी लाठियां

हरियाणा के सूरजकुण्ड मेले में गूॅज उठी आल्हा की तान

  • रमेश पाल एण्ड पार्टी ने भी भांजी लाठियां

हरियाणा टूरिज्म सूरजकुण्ड मेले का आगाज कल 2 फरवरी को ढोलक की थाप और मंजीरे की धुन के साथ गाई जाने वाली बुन्देलखण्ड की वीर रस की काव्य रचना आल्हा गायन से हुआ। बुन्देलखण्ड की तहजीब की मिशाल आल्हा की तान सुनकर लोगों की भुजाएं फड़क उठी।

सूरज कुण्ड मेला हरियाणा सरकार द्वारा आयोजित सूरत कुण्ड मले में इस वर्ष संस्कृतिक विभाग उ.प्र. सरकार की सहभागिता के साथ थीम प्रदेश के रूप में भागीदारी अवसर मिला। इस मेले का शुभारम्भ उ.प्र. के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने किया। इसके बाद मेले का शुभारम्भ बुन्देलखण्ड में गाई जाने वाली आल्हा गायन से हुआ। वीर रास की इस काव्यधारा को सुनते ही लोगों की भुजाएं फड़कने लगी।
इसी तरह बुन्देली दीवारी (पाई डण्डा) से देश के कोने-कोने में लोगों को तांतो तले अंगुली दबाने के लिए मजबूर करने वाले रमेश पाल एण्ड पार्टी ने भी सुरज कुण्ड मेले में अपनी तरह-तरह की कालाबाजी से लोगों के मंत्रमुग्ध कर दिया। इस नृत्य को देखने के लिए बड़ी संख्या में लोग घण्टों इन्तजार करते रहे। जैसे ही बुन्देली कलाकारों ने घुंघरू की थिरकन और बुन्देली गीतों के साथ लाठियां भांजना शुरू किया वैसे की लोग इस अद्भुत दृश्य को मंत्रमुग्ध होकर देखते रहे।

बताते चले कि यूपी स्थापना दिवस में दौरान अवध शिल्प मेला लखनऊ में चित्रकूट धाम मण्डल के चारों जनपदों के हस्त शिल्पाी कलाकर अपनी कला कौशल के क्षेत्र में विशिष्ट पहचान बनने वाले मशहूर शजर पत्थर, चित्रकूट का लकड़ी का खिलौना, महोबा का गौरा पत्थर और हमीरपुर की जूती बनाने वाले कलाकारों की कृतियां भी आकर्षण का केन्द्र रही।



चर्चित खबरें